कोविड-19 के हालात 1993 में किल्लारी में आए विनाशकारी भूकंप से अलग: शरद पवार

2020-07-25T18:23:21.493

औरंगाबाद: राज्य में कोविड-19 के प्रबंधन को लेकर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की प्रशंसा करते हुए राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने शनिवार को कहा कि 1993 में किल्लारी में आए विनाशकारी भूकंप से उत्पन्न स्थिति के मुकाबले मौजूदा महामारी के हालात अलग हैं। पत्रकारों से बात करते हुए, उन्होंने यह भी कहा कि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के उद्देश्य से केंद्र द्वारा जारी पैकेज का अभी तक कोई लाभ देखने को नहीं मिला है।

PunjabKesari

इस सवाल के जवाब में कि किल्लारी भूंकप के दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री कार्यालय को लातूर स्थानांतरित कर दिया था, जबकि ठाकरे अभी चीजों का प्रबंधन घर से कर रहे हैं, पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि किल्लारी के समय स्थिति अलग थी। वह आपदा एक जिले तक सीमित थी, लेकिन मौजूदा संकट पूरे राज्य में व्याप्त है। 1993 में आए किल्लारी भूकंप के समय पवार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री थे। किल्लारी भूकंप में लगभग 10,000 लोगों की मौत हो गई थी। पवार ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री राज्य में हर जगह जाएंगे तो समन्वय करना मुश्किल होगा। विपक्षी दल भाजपा के नेता ठाकरे के घर से काम करने को लेकर उन पर निशाना साध रहे हैं।
 


Edited By

Anil dev

Related News