कोरोना के डेल्‍टा-3 वेरिएंट ने दुनियाभर में बढ़ाई चिंता, भारत में भी अलर्ट

2021-07-25T12:28:17.717

नेशनल डेस्क: देश में कोरोना की दूसरी लहर का कहर अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। इसी बीच वैज्ञानिकों ने कोरोना के नए स्वरूप डेल्‍टा-3 वेरिएंट (Delta-3 Variant) को लेकर चिंता जताई है। अमेरिका में पिछले हफ्ते से कोरोना के मामलों में तेजी आई है। वैज्ञानिकों का कहना है कि इन बढ़ते मामलों को देखते हुए कहा जा सकता है कि डेल्‍टा-3 वेरिएंट  दुनियाभर में फैल चुका है। विशेषज्ञों का कहना है कि डेल्‍टा-3 वेरिएंट पहले के  डेल्टा की तुलना में ज्यादा खतरनाक है क्योंकि यह तेजी से फैलता है और वैक्सीन ले चुके लोगों को भी अपनी चपेट में लेता है। भारत में अभी  डेल्‍टा-3 वेरिएंट का कोई भी मामला सामने नहीं आया है लेकिन जीनाम सीक्वेंसिंग की निगरानी कर रहे इन्साकॉग समिति ने फिर भी इससे अलर्ट रहने को कहा है।

 

अक्तूबर 2020 में महाराष्‍ट्र में सबसे पहले डबल म्‍यूटेशन मिला था जिसके बाद डेल्‍टा और कप्‍पा वेरिएंट के बारे में जानकारी मिली थी। नई दिल्ली स्थित IGIB के वैज्ञानिक डॉ. विनोद स्कारिया ने बताया कि वायरस में म्यूटेशन होने के बाद एवाई.3 वेरिएंट मिला है जिसे डेल्टा-3 नाम भी दिया है। स्कारिया ने कहा कि डेढ़ साल के अंदर भारत में 230 म्‍यूटेशन देखे जा चुके हैं लेकिन वो इतने खतरनाक नहीं थे लेकिन डेल्‍टा-3 वेरिएंट के बारे में कहा जा रहा है कि इसकी रफ्तार काफी तेज है। बता दें कि कोरोना के दूसरे रूप डेल्‍टा-2 वेरिएंट की वजह से भारत में दूसरी लहर आई थी जिसने देश में अपना आक्रामक रूप दिखाया। पहली लहर के मुताबले भारत को दूसरी लहर में ज्यादा खामियाजा भुगतना पड़ा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Seema Sharma

Recommended News