रसोई गैस के दाम 50 रुपये बढ़ने पर कांग्रेस का मोदी सरकार पर हमला, कहा- अब ‘सिलेंडर को सरेंडर'' करने का वक्त आ गया

punjabkesari.in Saturday, May 07, 2022 - 01:44 PM (IST)

नेशनल डेस्क: कांग्रेस में रसोई गैस सिलेंडर के दाम बढ़ाने पर सरकार की तीखी आलोचना करते हुए इसकी बड़ी कीमत तत्काल वापस लेने और लोगों को राहत देने की मांग की है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार आम आदमी के साथ अन्याय कर रही है और उसे सब्सिडी वाले सिलेंडर के दाम को तत्काल वर्ष 2014 के स्तर पर लाना चाहिए। पार्टी प्रवक्ता पवन खेड़ा ने भी पार्टी मुख्यालय में विशेष संवाददाता सम्मेलन में कहा कि रसोई गैस के घरेलू सिलेंडर के दाम 50 रुपए बढ़ा दिए हैं और दिल्ली में इसकी कीमत 1000 रुपए से महज 50 पैसे कम रह गई है। उनका कहना था कि अब ‘सिलेंडर को सरेंडर' करने का वक्त आ गया है क्योंकि आम आदमी की पहुंच से इसकी कीमतें बाहर हो गई है।

उन्होंने पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में रसोयू गैस के दो सिलेंडर भी सजा करके रखे थे। सुरजेवाला ने इससे पहले कहा, ‘‘भाजपा मालामाल, जनता बेहाल। भाजपा राज में सब्सिडी वाला रसोई गैस सिलिंडर ढाई गुणा हो चुका है, रसोई गैस की मध्यम और गरीब की पहुंच से बाहर हो चुकी है। एलपीजी की दर मई 2014 में 414 रुपये, आज- 999.50 रुपए, बढ़ौतरी -585.5 रुपये की गई।' प्रवक्ता ने कहा,‘‘हमारी मांग है की सब्सिडी वाली रसोई गैस की कीमतों को वर्ष 2014 के स्तर पर लाया जाए। मोदी सरकार ने गैस सब्सिडी को ख़त्म करके गरीब तथा मध्यम वर्ग पर कुठाराघात किया है।

वर्ष 2012-13 में कांग्रेस सरकार में एलपीजी सब्सिडी 39,558 करोड़ रुपएथी,2013-14 में कांग्रेस सरकार ने 46,458 करोड़ रुपये गैस सब्सिडी दी, जिसे मोदी सरकार ने 2015-16 में 18 करोड़ रुपये और 2016-17 से जीरो कर दिया।'' उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार में रसोई का चुल्हा, महंगाई की आग से जल रहा है। आज सुबह महंगाई की एक और क़स्ति-घरेलू गैस सिलिंडर एलपीजी के दाम भी आज 50 रुपये बढ़ गए। पहले 22 मार्च को भी 50 रुपए बढ़ाए थे, 45 दिन में एलपीजी सिलेंडर के दाम 100 रुपए हो गयी। कमर्शियल सिलिंडर के दाम भी 60 दिन में 457.50 रुपए बढ़ गए।''

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Related News

Recommended News