See More

प्‍लेटफॉर्म पर मृत पड़ी मां के ‘कफन’ से खेलता रहा मासूम, भूख लगी तो जगाने लगा...Video देख भर आएंगी आ

2020-05-28T12:04:59.473

नेशनल डेस्कः गुजरात से ट्रेन में सवार हुई महिला ने बिहार के मुजफ्फरपुर में अपने घर पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया। वहीं इस दौरान दिल को कचोड़ देने वाला दृश्य जिसने भी देखा उसकी आंखें भर आईं। दरअसल अपनी मां की मौत से बेखबर मासूम पहले तो मां के ऊपर ओढ़ी गई चादर से खेलते रहा और कुछ समय बाद जब भूख लगी तो उसने अपनी मां के शव पर से चादर हटाकर उसे जगाने की कोशिश की। बुधवार को सोशल मीडिया पर सामने आया यह वीडियो कई राज्यों में व्याप्त प्रवासी मजदूरों के संकट की तस्वीर पेश करने वाला बन गया। वीडियो में दो बच्चे दिखाई दे रहे हैं जिसमें से एक की उम्र करीब 2 साल और दूसरा थोड़ा बड़ा दिख रहा है, हालांकि वह भी समझ नहीं पाया कि उसकी मां ऐसे क्यों बेसुध-सी लेटी हुई है। सोशल मीडिया पर वीडियो काफी वायरल हो रहा है। बताया जाता है कि यह महिला श्रमिक ट्रेन की मुसाफिर थी और चार दिन भूखे-प्‍यासे रहने की वजह से मौत का शिकार हो गई।

 

रेलवे ने दी सफाई
रेलवे ने सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो को लेकर अपना बचाव किया। रेलवे ने कहा कि 35 वर्षीय महिला की मौत दिल की बीमारियों के कारण हुई। रेलवे ने कहा कि सूरत से पूर्णिया जा रही ट्रेन सुबह नौ बजकर 17 मिनट पर मानसी स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर तीन पर पहुंची, जहां कुछ लोग महिला के शव को ट्रेन से उतारते दिखे। बाद में महिला की पहचान उरेश खातून के रूप में हुई। रेलवे ने कहा कि महिला के एक रिश्तेदार ने रेलवे पुलिस को जो बयान दिया है, उसके अनुसार वह कटिहार की निवासी थी। वह दिल की बीमारियों से पीड़ित थी और 22 मार्च को उसकी सर्जरी हुई थी। रेलवे के अनुसार महिला के रिश्तेदार के लिखित बयान के अनुसार उसे 24 मई को छुट्टी दी गई थी, जिसके बाद उसने अपना सफर शुरू किया।

 

हालांकि, आम आदमी पार्टी नेता संजय सिंह ने सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल पर निशाना साधा और रेलवे के प्रवक्ता पर झूठ बोलने का आरोप लगाया। सिंह ने वीडियो साझा करते हुए ट्वीट किया, 'महिला के पुत्र ने थाने में अपने बयान में कहा कि जब ट्रेन बेगूसराय के निकट पहुंची तो उन्होंने उसे जगाना शुरू किया और जब वह नहीं जगी तो वे मानसी में उतरे। रेल मंत्री पीयूष गोयल जी क्या आपने रेलवे के प्रवक्ता को झूठ बोलने को कहा है? अगर नहीं कहा तो मृत महिला के परिवार के सदस्य का बयान सुनिये कि 'महिला बीमार नहीं थी, ट्रेन में बीमार हुई, कोई मदद नहीं मिली। ट्रेनों की देरी के कारण भूख प्यास से 7 लोगों की जान गई। दोषियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करो।' संजय ने पीयूष गोयल को देश के इतिहास का सबसे असंवेदनशील और नाकाम रेल मंत्री बताया।


Seema Sharma

Related News