दविंदर की गिरफ्तारी के बाद जम्मू-श्रीनगर एयरपोर्ट की सुरक्षा में बदलाव, CISF को सौंपी गई

2020-01-16T23:41:07.697

नई दिल्लीः डीएसपी दविंदर सिंह की आतंकवादियों के साथ गिरफ्तारी के मद्देनजर जम्मू कश्मीर सरकार ने जम्मू और श्रीनगर हवाईअड्डों की सुरक्षा जल्द केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षाबल (सीआईएसएफ) के हवाले करने का आदेश दिया है। जम्मू कश्मीर के गृह विभाग की ओर से पुलिस महानिदेशक को भेजे गए आदेश में कहा गया है कि दोनों संवेदनशील हवाईअड्डों की सुरक्षा 31 जनवरी तक सीआईएसएफ को सौंप दी जाए। यह आदेश बुधवार को जारी किया गया।
PunjabKesari
दविंदर सिंह डीएसपी हवाईअड्डा सुरक्षा के रूप में तैनात था जिसे शनिवार को जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले में एक वाहन से हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकवादियों- नवीद बाबा और अल्ताफ तथा आतंकी संगठनों के लिए काम करने वाले एक वकील के साथ गिरफ्तार किया गया। सिंह पर आतंकवादियों को देश के अन्य हिस्सों तक पहुंचाने में मदद करने का आरोप है। जम्मू और श्रीनगर हवाईअड्डों की सुरक्षा का दायित्व अभी सीआरपीएफ और जम्मू कश्मीर पुलिस के पास है।
PunjabKesari
NIA से जांच शुरू करने को कहा
वहीं, केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) से जम्मू कश्मीर के गिरफ्तार डीएसपी दविंदर सिंह के मामले में जांच प्रक्रिया शुरू करने को कहा है। दविंदर को शनिवार को जम्मू कश्मीर के कुलगाम जिले से दो आतंकवादियों और उनके मददगार एक वकील के साथ एक वाहन से गिरफ्तार किया गया था। डीएसपी पर आतंकवादियों से मिलीभगत और उन्हें देश के अन्य हिस्सों तक पहुंचाने में मदद करने का आरोप है।
PunjabKesari
घटनाक्रम से करीब से जुड़े एक अधिकारी ने कहा कि मामला एनआईए को सौंपने के लिए जल्द ही औपचारिक अधिसूचना जारी होने की उम्मीद है। मामला एनआईए को सौंपने से पहले जम्मू और दिल्ली में आवश्यक औपचारिकताएं पूरी की जा रही हैं। दविंदर, हिज्बुल मुजाहिदीन के आतंकियों-नवीद बाबू और आतिफ अहमद तथा वकील इरफान अहमद मीर से प्रारंभिक पूछताछ के दौरान जम्मू कश्मीर में तैनात कुछ एनआईए अधिकारी मौजूद थे।
PunjabKesari
अधिकारियों ने कहा कि एनआईए द्वारा मामला दर्ज किए जाने के बाद उसे सभी रिकॉर्ड सौंप दिया जाएगा। पकड़े जाने के समय वाहन चला रहे मीर पर आरोप है कि उसे पाकिस्तान से आदेश मिलते थे। उसने भारतीय पासपोर्ट पर पांच बार पाकिस्तान की यात्रा की थी। 

 


Yaspal

Related News