भाजपा से नाराज कार्यकर्ताओं ने लगाए नारे- मोदी तुझसे बैर नहीं, मनोज तिवारी की खैर नहीं

2020-01-19T19:03:28.363

नेशनल डेस्कः दिल्ली के पूर्वांचली वोटरों को साधने के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने प्रदेश की कमान पूर्वांचल के एक लोकप्रिय चेहरे मनोज तिवारी के हाथों में दी थी। लेकिन दिल्ली विधानसभा में पूर्वांचल के ही लोग मनोज तिवारी के विरोध में उतर आए हैं। रविवार को पंत मार्ग स्थित प्रदेश कार्यालय पर भाजपा के पूर्वांचल से जुड़े कार्यकर्ताओं की भारी भीड़ इकट्ठा हो गई और मनोज तिवारी के विरोध में नारेबाजी करने लगी। भीड़ ने ‘मोदी तुझसे बैर नहीं, मनोज तिवारी की खैर नहीं’ के नारे लगाए।
PunjabKesari
बीजेपी के इन कार्यकर्ताओं का आरोप था कि मनोज तिवारी के अध्यक्ष पद पर रहने के कारण ही उनके लोगों की उपेक्षा हुई है। कार्यकर्ताओं की यह भीड़ तब तक डटी रही जब तक कि प्रदेश कार्यालय ने पार्टी के पूर्वांचल मोर्चे के पूर्व अध्यक्ष दिनेश प्रताप सिंह को बुलाकर इन्हें शांत नहीं कराया। कार्यकर्ताओं का कहना था कि लक्ष्मीनगर सीट से इस बार भी अभय वर्मा को टिकट दिया गया है जबकि 2013 की लड़ाई में वे तीसरे स्थान पर रहे थे। जबकि इस सीट से बीजेपी के कई दमदार कार्यकर्ता वर्षों से पार्टी का झोला उठा रहे हैं, लेकिन उन्हें इसका ईनाम नहीं मिला।

राजस्थान में भी लगे थे नारे
'मोदी तुझसे बैर नहीं' की तर्ज पर नारे सबसे पहले राजस्थान में तत्कालीन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया के खिलाफ लगे थे। इस चुनाव में भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा था।
PunjabKesari
दरअसल, भाजपा ने इस चुनाव में भी पूर्वांचल के उन्हीं प्रत्याशियों पर दांव लगाया है जो 2013 या 2015 के चुनाव में बुरी तरह परास्त हो चुके हैं। कार्यकर्ताओं की मांग है कि इन जगहों पर नए ऊर्जावान चेहरों को मौका देना चाहिए। इसकी सबसे बड़ी मिसाल संजय सिंह को विकासपुरी सीट से टिकट मिलना बताया जा रहा है। वर्ष 2015 के चुनाव में संजय सिंह को केवल 54,772 वोट मिले थे जबकि उनके सामने आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार महिंदर यादव को 1,32,437 वोट मिले थे। इस प्रकार भाजपा ने 67,665 वोटों से आप के हाथों हार गई थी। पार्टी कार्यकर्ताओं का कहना है कि इस सीट पर किसी नए उम्मीदवार को मौका दिया जाना चाहिए था। बताया जाता है कि संजय सिंह को यह टिकट भाजपा सांसद प्रवेश साहिब सिंह वर्मा के दबाव के कारण मिला है, जबकि यह इलाका पूर्वांचल बहुल आबादी का है।
PunjabKesari
गलत टिकट वितरण के आरोप में भाजपा को मॉडल टाउन, करावल नगर, पटपड़गंज, गांधीनगर और अन्य जगहों पर भी विरोध झेलना पड़ रहा है। भाजपा के दिग्गज नेता रहे करण सिंह तंवर के समर्थकों ने भी लागातार पार्टी पर दबाव बनाने की कोशिश की है। इस बीच सोमवार 20 जनवरी को भाजपा के नए अध्यक्ष के चयन को लेकर तैयारियां हो रही हैं। ऐसे माहौल में शीर्ष नेताओं की व्यस्तता के कारण टिकटों में बदलाव की किसी संभावना नहीं बताई जा रही है। 


Yaspal

Related News