भारत में बर्ड फ्लूः क्या है एवियन वायरस? क्या इससे लोग हो सकते हैं संक्रमित?

2021-01-05T17:49:54.873

नेशनल डेस्कः कोरोना वायरस महामारी के बीच देश के कई राज्यों में और वायरस  ‘एवियन इन्फ्लूएंजा’ फैलता जा रहा है, जिसे आमतौर पर बर्ड फ्लू के रूप में जाना जाता है। 4 जनवरी को एवियन इन्फ्लूएंजा के कारण प्रवासी जल पक्षियों की मौतें 2,401 तक पहुंच गई है, जिनमें से लगभग आधे खतरे वाले बार हेडेड हैं, जो हिमाचल प्रदेश के पांग वेटलैंड्स में प्रवास करते हैं। केरल सरकार ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में लगभग 12,000 बत्तखों की मौत हो गई है।

सवालः एवियन इन्फ्लूएंजा क्या है? यह इंसानों तक कैसे पहुंचता है?
जवाबः
सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) ने बताया कि ‘एवियन इन्फ्लूएंजा’ एवियन (पक्षी) इन्फ्लूएंजा (फ्लू) टाइप ए वायरस से संक्रमण के कारण होने वाली बीमारी है। यह दुनिया भर के जंगली जलीय पक्षियों में पाई जाती है और घरेलू पोल्ट्री और अन्य पक्षी और जानवर इससे संक्रमित हो सकते हैं।

सवालः भारत में कौन से राज्य वायरस में फैला यह वायरस?

जवाबः

राजस्थान
केरल
हिमाचल प्रदेश
पंजाब, झारखंड और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों ने हाई अलर्ट जारी कर दिया है।

सवालः क्या इंसान बर्ड फ्लू से संक्रमित हो सकता है?
जवाबः सीडीसी के मुताबिक, एवियन फ्लू वायरस "सामान्य रूप से मानव को संक्रमित नहीं करते हैं"। ऐसा संक्रमण दुर्लभ है। एक सर्वे के मुताबिक 2015 से केवल छिटपुट मामले दर्ज किए गए हैं। हालांकि, संक्रमित होने पर वायरस "घातक साबित हो सकता है।

सवालः क्या बर्ड फ्लू एक व्यक्ति से दूसरे में फैलता है?
जवाबः विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुताबिक, बर्ड फ्लू एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैल सकता है, लेकिन यह बहुत कम मामलों में देखा गया है। 2003 से 2019 तक WHO ने दुनिया भर में H5N1 के कुल 861 मामलों की पुष्टि की, जिनमें से 455 मौतें दर्ज की गईं।

सवालः बर्ड फ्लू के लक्षण क्या हैं?
जवाबः
खांसी
बुखार
गले में खरास
मांसपेशी में दर्द
सरदर्द
सांस लेने में कठिनाई

सवालः क्या इसका मतलब है कि मुझे अंडे, चिकन या बतख नहीं खाना चाहिए?
जवाबः जरुरी नहीं। गर्मी बर्ड फ्लू को खत्म करती है। इसलिए, पका हुआ मुर्गी खाना स्वास्थ्य के लिए खतरा नहीं है। हालांकि, आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि मांस को अच्छी तरह से रखा जाए और इसे पकाते समय सफाई बरतनी चाहिए। सबसे महत्वपूर्ण बात अंडे और मांस को अच्छी तरह से पकाया जाना चाहिए।

मेयोक्लिनिक के मुताबिक, निम्नलिखित सावधानियां बरतनी चाहिए
कटिंग बोर्ड, बर्तन और सभी सतहों को धोने के लिए गर्म, साबुन के पानी का उपयोग करें जो जिनपर कच्चा मांस रखा हो क्योंकि अंडे के छिलके अक्सर हल्की बूंदों से दूषित होते हैं, कच्चे या अधपके अंडे वाले खाद्य पदार्थों से बचें।

सवालः बर्ड फ्लू चिंता का कारण क्यों है?
जवाबः बर्ड काउंट इंडिया के अनुसार, पिछले सात से 10 दिनों में संगठनों और समूहों की भागीदारी में देश के विभिन्न स्थानों पर जंगली पक्षियों के अलग-अलग घटनाओं में मरने की खबरें आई हैं। फिलहाल स्थिति पर लगातार नजर रखी जा रही है।


Yaspal

Recommended News