ममता सरकार के खिलाफ शुभेंदु अधिकारी का शक्ति प्रदर्शन, 75 में से 25 भाजपा विधायकों ने नहीं दिया साथ

2021-06-15T10:24:58.25

नेशनल डेस्क: विधानसभा चुनाव के खत्म होने के बाद भी पश्चिम बंगाल में राजनीत उथल-पुथल थमने का नाम नहीं ले रही है। अब  नंदीग्राम से बीजेपी विधायक शुभेंदु अधिकारी ने पार्टी विधायकों के प्रतिनिधिमंडल के साथ राजभवन जाकर राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात की और राज्य में हो रही घटनाओं को लेकर  ज्ञापन सौंपा। । हालांकि इस दौरान बीजेपी के करीब दो दर्जन विधायक गायब रहे।

PunjabKesari
धनखड़ ने बोला ममता सरकार पर हमला
शुभेंदु अधिकारी भारतीय जनता पार्टी के 50 विधायकों के साथ राज्यपाल से मिले थे। इस वक्त पश्चिम बंगाल विधानसभा में बीजेपी के 75 विधायक हैं यानी 25 विधायक शुभेंदु अधिकारी के इस शक्ति प्रदर्शन में शामिल नहीं हुए, ऐसे में चर्चाओं का दौरा फिर शुरु हो गया हैराज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ट्वीट कर बताया  कि, 'नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी सहित बीजेपी के 50 विधायकों ने मुझे ज्ञापन सौंपा है और उस ज्ञापन में उन्होंने पश्चिम बंगाल की भयावह स्थिति का वर्णन किया है और प्रमुख रुप से चार बातों पर ध्यान आर्कषित किया है।' राज्यपाल ने कहा कि पिछले 10 साल में दल बदल कानून के तहत कोई कारगर कार्रवाई नहीं हुई।

PunjabKesari
 'तोड़ना-जोड़ना' टीएमसी की गंदी राजनीति का हिस्सा: सुभेंदु अधिकारी 
वहीं सुभेंदु अधिकारी ने कहा कि, 'तोड़ना-जोड़ना' टीएमसी की गंदी राजनीति का हिस्सा है। वे पिछले 10 वर्षों से ऐसा कर रहे हैं और किसी ने इसका विरोध नहीं किया। लेकिन अब इसका विरोध किया जा रहा है और दलबदल विरोधी कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी। मैंने सभी विधायकों को बुलाया था। राजभवन में राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मिलने के लिए 50 विधायक पहुंचे थे। 

PunjabKesari

मुकुल रॉय पर भी बोला हमला
इससे पहले अधिकारी ने कहा था कि अगर मुकुल रॉय विधायक पद से इस्तीफा नहीं देते हैं तो वह उनके खिलाफ विधानसभा अध्यक्ष को दल-बदल कानून के तहत कार्रवाई के लिए आवेदन देंगे। मुकुल रॉय पिछले सप्ताह भाजपा छोड़कर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए थे। उन्होंने भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा और कृष्णानगर उत्तर सीट पर जीत हासिल की थी।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

Recommended News