पद्मश्री पुरस्कार की घोषणा के 3 दिन बाद ही बाबा इकबाल सिंह का निधन, PM मोदी समेत कई नेताओं ने जताया दुख

punjabkesari.in Saturday, Jan 29, 2022 - 11:49 PM (IST)

नई दिल्लीः बाबा इकबाल सिंह का शनिवार को हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले के बारू साहिब में निधन हो गया। वो 96 साल के थे। हाल ही में बाबा इकबाल सिंह का नाम उनके सामाजिक कार्यों के लिए भारत सरकार की ओर से पद्म पुरस्कार 2022 के तहत पद्मश्री पुरस्कार प्राप्त करने के लिए लिस्ट किया गया था। 
PunjabKesari
वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को प्रख्यात शिक्षाविद बाबा इकबाल सिंह के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया। मोदी ने ट्वीट किया,'बाबा इकबाल सिंह जी के निधन से दुखी हूं। उन्हें युवाओं में शिक्षा बढ़ाने के उनके प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। उन्होंने सामाजिक सशक्तिकरण को आगे बढ़ाने के लिए अथक प्रयास किया। मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और प्रशंसकों के साथ हैं। यह दुखद घड़ी है। वाहेगुरु उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें।'  
PunjabKesari
वहीं केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी बाबा इकबाल सिंह के निधन पर दुख जताते हुए ट्वीट कर कहा कि सामाजिक कार्यकर्ता और परोपकारी शिरोमणि पंथ रतन सरदार बाबा इकबाल सिंह जी के निधन से गहरा दुख हुआ। इस साल पद्मश्री से सम्मानित बाबाजी को मानवता की सेवा के लिए उनके प्रयासों के लिए प्रशंसा और सम्मान दिया गया था।

बारू साहिब वाले के नाम से मशहूर समाजसेवी बाबा इकबाल सिंह ने शनिवार को अंतिम सांस ली। 96 वर्षीय इकबाल सिंह को इस साल पद्म श्री से सम्मानित किया गया था। बाबा इकबाल सिंह को 8 जुलाई, 2018 को तख्त श्री हरमंदिर जी पटना साहिब में जत्थेदार ज्ञानी इकबाल सिंह खालसा द्वारा‘शिरोमणि पंथ रतन'की प्रतिष्ठित उपाधि से सम्मानित किया गया था। उनका अंतिम संस्कार रविवार को हिमाचल प्रदेश में बरू साहिब में होगा। 

शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने भी जताया दुख
शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने भी बाबा इकबाल सिंह के निधन पर दुख जताते हुए ट्वीट कर कहा कि शिरोमणि पंथ रतन बाबा इकबाल सिंह जी के निधन के बारे में जानकर गहरा दुख हुआ। आध्यात्मिक नेता को हाल ही में उनके अनुकरणीय सामाजिक कार्यों के लिए पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। गुरु साहिब दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें। उनके परिवार और अनुयायियों के लिए मेरी संवेदनाएं और चिंताएं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Related News

Recommended News