एंटीलिया केस: फर्जी एनकाउंटर कर किसी और को फंसाना चाहता था वाजे, NIA कर रही जांच

2021-04-14T15:19:28.407

नेशनल डेस्क: जांचकर्ताओं को संदेह है कि निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे ने दो लोगों को फर्जी मुठभेड़ में मार गिराने की योजना बनाई थी ताकि उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के निकट विस्फोटक सामग्री रखी कार मिलने के मामले से उन्हें जोड़ा जा सके। सूत्रों ने बुधवार को यह बात कही। उन्होंने कहा कि इस तरीके से 'मुठभेड़ विशेषज्ञ' (Encounter specialist) वाजे मामले को सुलझाने का दावा करना चाहता था, लेकिन उसकी यह योजना धरी रह गई। सूत्रों ने कहा कि मामले की जांच कर रहे राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (NIA) को ठाणे में वाजे के घर की तलाशी के दौरान एक व्यक्ति का पासपोर्ट बरामद हुआ था, जिसकी पहचान नहीं बताई गई है। उन्होंने कहा कि पहले शुरुआत में मारूति ईको वाहन में ''फर्जी मुठभेड़'' को अंजाम देने योजना बनाई गई, जो पिछले साल नवंबर में महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर से चोरी हो गई थी।

 

सूत्रों ने कहा कि जांच एजेंसी को संदेह है कि दो लोगों को मारकर वाजे विस्फोटक सामग्री मिलने के मामले को सुलझाने का दावा करना और तारीफ पाना चाहता था, लेकिन यह योजना अंजाम तक नहीं पहुंच पाई। NIA ने इससे पहले कहा था कि वाजे कुछ बड़ा करने की योजना बना रहा था। सूत्रों ने कहा कि एजेंसी फर्जी मुठभेड़ थ्योरी की जांच कर रही है। बता दें कि 25 फरवरी को दक्षिण मुंबई में अंबानी के घर के बाहर एक एसयूवी मिली थी, जिसमें विस्फोटक सामग्री रखी हुई थी। उस एसयूवी के मालिक बताए गए कारोबारी मनसुख हिरन का 5 मार्च को ठाणे में एक नहर से शव मिलने के बाद मामले में नया मोड़ आ गया था। इसके बाद 13 मार्च को एनआईए ने वाजे को गिरफ्तार कर लिया।


Content Writer

Seema Sharma

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static