अमित शाह का गहलोत पर बड़ा हमला, राजस्थान में लॉ एंड ऑर्डर नहीं, ''लो और ऑर्डर करो'' सरकार

punjabkesari.in Sunday, Dec 05, 2021 - 06:14 PM (IST)

नेशनल डेस्कः केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज यहां गहलोत सरकार पर चुनाव में किए वायदे पूरे नहीं करने तथा पेट्रोल एवं डीजल पर टैक्स नहीं घटाने का आरोप लगाते हुए कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि डीजल एवं पेट्रोल पर दाम घटाने के लिए आंदोलन कर सरकार को डीजल-पेट्रोल दाम घटाने के लए मजबूर करे। शाह आज यहां भाजपा द्वारा आयोजित जनप्रतिनिधि सम्मेलन में कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अपनी तिजोरी प्रिय हैं। केन्द्र और भाजपा शासित प्रदेश सरकारों में पेट्रोल के दाम घटा दिए लेकिन राजस्थान में कांग्रेस सरकार ने ऐसा नहीं किया। उन्होंने गहलोत को पेट्रोल डीजल की दरों में कटोती का सुझाव देते हुए कहा कि ऐसा नहीं किया तो जनता राह देखकर खड़ी है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने चुनाव में बेरोजगारी भत्ता देने तथा किसानों का ऋण माफ करने का वादा किया था लेकिन ये दोनों वादे पूरे नहीं किए। यह पार्टी झूठे वादे करके सरकार में आई हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जयपुर में कहा था किसानों के कर्जे दस दिन में माफ कर देंगे लेकिन नहीं किया जबकि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 11 करोड़ किसानों के कर्जे माफ किये। 

राज्य में कानून व्यवस्था की चर्चा करते हुए शाह ने कहा कि यह सरकार ‘लो और ऑडर्र करो' की नीति पर काम कर रही है। जिससे लूट के मामलों में 40 प्रतिशत, अपहरण में 25 , बलात्कार में 21, दलित अत्याचार में 42 प्रतिशत बढ़ोत्तरी हुई।उन्होंने आरोप लगाया कि गहलोत सरकार गरीबों को कोई सुविधा नहीं दे रही तथा वसुंधरा सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को बंद या तोड़ मरोड़ दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत यह कहते हैं कि भाजपा हमारी सरकार गिराना चाहती है, उनकी सरकार के लोग भी भाग रहे हैं। शाह ने कहा कि मैं यह कहना चाहता हूं कि कांग्रेस की सरकार कोई नहीं गिरा रहा है। भाजपा ऐसा काम कभी नहीं करेगी तथा चुनाव में जनता के सामने जाकर प्रचण्ड बहुमत हासिल करेगी।

राम मंदिर की चर्चा करते हुए शाह ने कहा कि यह नब्बे के दशक से यह मांग चलती रही लेकिन जब पूर्ण बहुमत की मोदी सरकार दुबारा केन्द्र में बनी तब राम मंदिर निर्माण का काम शुरु किया गया तथा अगले दो वर्ष में भव्य राममंदिर का सपना पूरा हो जायेगा। शाह ने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने गरीबी हटाओं का नारा दिया था लेकिन गरीबी हटाने के बजाय गरीब को ही हटाने काम किया। श्री मोदी 2014 में सत्ता में आये तब देखा करोड़ों के घर बिजली नहीं हैं, गैस कनेक्शन नहीं हैं, स्वास्थ्य का ठिकाना तथा शोचालय की व्यवस्था भी नहीं थी।

शाह ने दावा कि मोदी के सत्ता संभालने के बाद सात वर्ष में ही हर घर में बिजली, 11 करोड़ से ज्यादा घरों में शोचालय, 13 करोड़ घरों में गैस सिलेण्डर देकर घरों को धुंआ से मुक्त किया गया। उन्होंने कहा कि मोदी ने 60 करोड़ गरीबों को पांच लाख रुपए का स्वास्थ्य बीमा लाभ दिया हैं। जिससे बुढ़े मां बाप का का इलाज कराने का बोझ नहीं लगेगा तथा बच्चों का इलाज भी आसान हो गया। कोरोना काल में बेरोजगार हुए लोगों की चर्चा करते हुए शाह ने कहा कि मोदी 80 करोड़ गरीबों को दो वर्ष तक पांच किलो अनाज देकर राहत दिलाई। इसके अलावा 130 करोड़ जनता को मुफ्त वैक्सीनेशन दिलाने का काम किया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News