रोजगार सृजन हेतु त्रिस्तरीय योजना बनाई जाए

punjabkesari.in Tuesday, Feb 07, 2023 - 05:08 PM (IST)

चण्डीगढ़, 7 फरवरी - (अर्चना सेठी)  पूर्व केन्द्रीय  जल शक्ति व् सामाजिक न्याय अधिकारिता मंत्री व् वर्तमान सांसद रतन लाल कटारिया ने आज संसद में रूल 377 के अंतर्गत अपनी मांग रखते हुए कहा की आजादी के 75 वें अमृत-महोत्सव में रोजगार सृजन के लिए रोजगार मंत्री से मांग करता हूं कि भारतवर्ष में एक स्वावलंबी भारत अभियान चलाया जाए l जिसके अंतर्गत रोजगार सृजन हेतु त्रिस्तरीय योजना बनाई जाए, प्रथम स्थानीय स्तर पर रोजगार सृजन के प्रयत्नों को प्रोत्साहन व सहयोग दिया जाए, दूसरा जिला रोजगार सृजन की स्थापना की जाए, तीसरा मानसिकता परिवर्तन हेतु उधमिता पर देशव्यापी जनजागरण अभियान चलाया जाए और इसमें आर्थिक, सामाजिक व क्षेत्रीय संगठनों की पहल हो l यद्यपि प्रधानमंत्री  भारत के युवाओं को प्रोत्साहित कर रहे हैं, कि वह जॉब सीकर से जॉब क्रिएटर बने l 

 

रतन लाल कटारिया ने कहा की अनेक प्रयत्नों से आज Self -employment और Enterpenurership रोजगार के लिए लोकप्रिय विकल्प बन रहे हैं l सरकार की मजबूत आर्थिक नीतियां सालाना रोजगार के लाखों नए अवसर पैदा कर रही हैं, यही कारण है कि वर्ष 2021-22 में 420 बिलियन डॉलर का निर्यात हुआ, 1.34 लाख युवाओं को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत प्रशिक्षित किया गया, ताकि देश में रोजगार के नए अवसर बढ़े l 

 

रतन लाल कटारिया ने कहा की आज भारत में प्रतिदिन 600 कंपनियों का पंजीकरण हो रहा है और 100 यूनिकॉर्न कंपनियां भारत में बन चुकी हैं और 70 हजार से ऊपर स्टार्टअप शुरू हो चुके हैं l भारत को 2030 तक पूर्ण रोजगार युक्त देश बनाने के लिए और 2030 तक 10 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए भारत का रोजगार के क्षेत्र में अग्रिणी पंक्ति में होना आवश्यक हैं l 

 

रतन लाल कटारिया ने कहा की  कौन नहीं जानता कि भारत सदा आर्थिक दृष्टि से संपन्न एवं पूर्ण रोजगार युक्त देश रहा है l  अभी इसी सदन ने केंद्रीय विश्वविद्यालय (संशोधन) विधयेक 2022 को पास किया हैं, जिसके माध्यम से परिवहन के क्षेत्र में लगातार विकास व अनुसंधान हेतु युवाओं को प्रशिक्षित कर रोज़गार के नये अवसर पैदा किए जा सके l 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Archna Sethi

Related News

Recommended News