पोती को बचाने बेटे से उलझ गई 70 साल की दादी, धोखे से अनाथालय भेजी बच्ची को निकाल लाई बाहर

2021-07-29T15:06:10.183

नेशनल डेस्क:  मां-बाप के रिश्ते की तरह की दादा-दादी के रिश्ते की भी बहुत अहमियत होती है। दादा-दादी अपने पोता- पाती की खुशी के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार रहते हैं। ऐसा ही कुछ किया 70 साल की दादी ने, जो पोती को बचाने के लिए अपने बेटे से ही उलझ गई।  इतना ही नहीं बेटे को सबक सिखाने के लिए महिला ने कोर्ट तक का दरवाजा खटका दिया। 

तीसरी लहर को रोकने के फिर Lock होगा केरल, 31 जुलाई और 1 अगस्त को  पूर्ण लॉकडाउन को ऐलान
 

यह मामला है गुजरात के सूरत का, यहां एक शख्स ने दूसरे शादी करने के लिए  11 साल की बेटी को अनाथ आश्रम में छोड़ दिया। जब बच्ची की दादी को इस बात जानकारी मिली तो वह अपने पोती को लाने अनाथ आश्रम गई, लेकिन आश्रम वालों ने लड़को को ले जाने की इजाजत नहीं दी। 70 साल की महिला ने हार नहीं मानी और बेटे के इस फैसले के खिलाफ कोर्ट गई। 

राहुल गांधी की नसीहत- संसद का समय बर्बाद करने की  बजाय महंगाई और पेगासस पर करो चर्चा

कोर्ट ने सर्च वारंट जारी पुलिस को बच्ची को कोर्ट में लाने को कहा। इसके बाद बच्ची को अनाथालय से कोर्ट में लाया गया। दादी को देखकर बच्ची फूट- फूट कर रो पड़ी और कहने लगी कि वह 25 दिनों से दादी के पास जाने के लिए कह रही है, पर कोई उसकी बात नहीं सुन रहा है। मुझे दादी के पास भेज दो। बच्ची को रोता देख कोर्ट में मौजूद हर शख्स भावुक हो उठा। 

101 स्क्वाड्रन में में हुई लड़ाकू विमान राफेल की एंट्री, अब चीन को सबक सिखाना होगा आसान
 

जज ने लड़की को अपने पास बुलाकर बैठाया और शांति से अपनी बात कहने को कहा। बच्ची ने दादी के रहने की इच्छा व्यक्त की। कोर्ट ने इसकी मंजूरी देते हुए कहा कि बच्ची को किस आधार पर अनाथालय में रखा गया था, संस्था को इस बात का जवाब देना होगा। इसके साथ ही जज ने संस्था पर जुर्माना करने की भी बात कही। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

vasudha

Recommended News