सोमैया का दावा : कारोबारी नवलानी के खिलाफ जांच जारी रखने से ईओडब्ल्यू को रोका गया

punjabkesari.in Wednesday, May 18, 2022 - 07:06 PM (IST)

मुंबई, 18 मई (भाषा) महाराष्ट्र भाजपा नेता किरीट सोमैया ने बुधवार को दावा किया कि मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) को भ्रष्टाचार के आरोपी कारोबारी जितेन्द्र नवलानी के खिलाफ जांच न करने को कहा गया है।

पूर्व लोकसभा सदस्य सोमैया ने यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नवलानी के विरूद्ध राज्य की दो एजेंसियों की विशेष टीम गठित की गयी है।
उन्होंने कहा, ‘‘प्रवर्तन निदेशालय के कुछ अधिकारियों के नाम पर धन स्वीकार करने के मामले में नवलानी के खिलाफ दो पृथक प्राथमिकी दर्ज की गयी हैं। एक प्राथमिकी ईओडब्ल्यू की ओर से दायर की गयी थी तो दूसरी भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की ओर से। मेरी जानकारी के अनुसार, ईओडब्ल्यू को जांच आगे न बढ़ाने का निर्देश दिया गया है।’’
हालांकि, सोमैया ने यह स्पष्ट नहीं किया कि किसने कथित तौर पर ईओडब्ल्यू को दक्षिण मुंबई में एक रेस्तरां मालिक नवलानी के विरूद्ध आगे की जांच न करने के लिए कहा है।

उन्होंने प्रश्न किया, “एक ही अपराध की जांच के लिए दो एसआईटी (विशेष जांच दल) कैसे गठित की गयी? ईओडब्ल्यू ने गुपचुप तरीके से जांच क्यों रोक दी है?”
सोमैया ने कहा, ‘‘शिवसेना सांसद संजय राउत ने नवलानी मामले को लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) को पत्र लिखा है। इसका अर्थ है कि यह पार्टी का आधिकारिक रुख है। तय प्रक्रिया के तहत कार्रवाई की जाएगी।"
महाराष्ट्र एसीबी ने इस महीने की शुरुआत में एक प्राथमिकी दर्ज होने के बाद नवलानी के विरूद्ध पिछले सप्ताह लुकआउट सर्कुलर जारी किया था, जिसमें आरोप लगाया गया था कि व्यवसायी ने 2015 और 2021 के बीच निजी कंपनियों से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों के नाम का उपयोग करके 58.96 करोड़ रुपये एकत्र किए थे।
लुकआउट सर्कुलर एक नोटिस है जो किसी व्यक्ति को देश छोड़ने से रोकता है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News