भाजपा नेताओं ने ‘हिंदू’ देवी-देवताओं का मजाक उड़ाने को लेकर ‘तांडव’ पर प्रतिबंध लगाने की मांग की

2021-01-17T20:57:25.267

मुंबई, 17 जनवरी (भाषा) भाजपा सांसद मनोज कोटक ने हिंदू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाने को लेकर एमेजॉन प्राइम वीडियो की सीरीज ‘‘तांडव’’पर सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से प्रतिबंध लगाने का रविवार को अनुरोध किया।
कोटक ने इस सिलसिले में जावड़ेकर को एक पत्र लिखा है।
वेब सीरीज ‘‘तांडव’’ में अभिनेता सैफ अली खान, डिंपल कपाड़िया, सुनील ग्रोवर, तिगमांशु धूलिया, डिनो मोर्या, कुमुद मिश्रा, मोहम्मद जीशान अयुब, गौर खान, कृतिका कामरा ने अभिनय किया है। इसका प्रीमियर शुक्रवार को किया गया।
फिल्मकार अली अब्बास जफर राजनीति पर आधारित ड्रामे के निर्माता एवं निर्देशक हैं। इसे गौरव सोलंकी ने लिखा है जो ‘आर्टिकल 15’ को लेकर जाने जाते हैं।
मुंबई उत्तर-पूर्व से सांसद कोटक ने कहा कि इस तरह के मंच पर अक्सर ही हिंदू देवी-देवताओं को अच्छे संदर्भ में नहीं दिखाने की कोशिश की जाती है।
कोटक ने कहा, ‘‘विभिन्न संगठनों और लोगों ने शिकायत की है कि हिंदू देवी-देवताओं का ‘तांडव’ वेब सीरीज में मजाक उड़ाया गया है। उनके बारे में (आपत्तिजनक) टिप्पणी की गई है। ’’
उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए हम जावड़ेकर जी से मांग करते हैं कि वह इस वेब सीरीज पर फौरन प्रतिबंध लगाएं। भावनाओं को ठेस पहुंचाने को लेकर इसके अभिनेताओं, निर्माता और निर्देशक को माफी मांगनी चाहिए। ’’
कोटक ने जावड़ेकर को लिखे पत्र की तस्वीर रविवार को ट्विटर पर साझा की और कहा, ‘‘ डिजिटल सामग्री को नियंत्रित करने वाली कोई स्वायत्त संस्था अभी नहीं है। ऐसे में इस तरह के मंच ‘‘सेक्स, हिंसा, ड्रग्स, नफरत अैर अश्लीलता’’ से भरे हुए हैं। कभी-कभी वे धार्मिक भावनाओं को भी आहत करते हैं। ’’
उन्होंने 16 जनवरी को लिखे पत्र में कहा, ‘‘ऐसा लगता है कि इस सीरीज के निर्माताओं ने जानबूझ कर हिंदू देवी-देवाओं का मजाक उड़ाया है और हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं का अपमान किया है। ’’
भाजपा के एक अन्य नेता एवं घाटकोपर पश्चिम से विधायक राम कदम ने भी निर्देशक से वेब सीरीज का वह हिस्सा हटाने को कहा है जिसमें भगवान शिव का मजाक उड़ाया गया है।
उन्होंने इस सिलसिले में घाटकोपर पुलिस थाने में एक शिकायत भी दायर कराई है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

PTI News Agency

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News