नगरोटा हमला: NIA ने जैश-ए-मोहम्मद के 6 मददगारों के खिलाफ दायर की चार्जशीट

punjabkesari.in Tuesday, Jul 28, 2020 - 10:41 AM (IST)

जम्मू: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों को देश में घुसपैठ करने में मदद करने के आरोप में छह व्यक्तियों के खिलाफ यहां एक विशेष अदालत में आरोपपत्र दायर किया। एनआईए के एक प्रवक्ता ने बताया कि यहां एक विशेष एनआईए अदालत के समक्ष समीर अहमद डार, आसिफ अहमद मलिक, सरताज अहमद मंटू, सुहैब मंजूर, जहूर अहमद खान, सभी पुलवामा के निवासी और बडगाम निवासी सुहैल जावीद के खिलाफ भारतीय दंड सहिता की प्रासंगिक धाराओं, गैरकानूनी गतिविधियाँ (रोकथाम) अधिनियम, शस्त्र कानून, विस्फोटक पदार्थ अधिनियम और भारतीय वायरलेस टेलीग्राफी अधिनियम के प्रावधानों के तहत आरोप लगाए गए हैं।

बता दें कि साल 31 जनवरी को, पठानकोट-श्रीनगर राजमार्ग पर जम्मू के नगरोटा में बान टोल प्लाजा पर अधिकारियों ने सुबह 5:00 बजे एक ट्रक को जांच के लिए रोका था। उन्होंने बताया कि वाहन में तीन पाकिस्तानी आतंकवादी मिले थे जिन्होंने हाल में घुसपैठ की थी। एनआईए अधिकारी ने बताया कि चालक समीर और उसके दो सहयोगी आसिफ और सरताज तड़के में अंधेरे का लाभ उठाकर फरार हो गए लेकिन ट्रक में छुपे भारी हथियारों से लैस पाकिस्तानी आतंकवादियों ने पुलिस पर गोलीबारी शुरू कर दी। इसमें एक सुरक्षाकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गया था। उन्होंने कहा कि सुरक्षा बलों ने बान वनक्षेत्र में तलाशी अभियान चलाया और तीन पाकिस्तानी आतंकवादियों को मार गिराया, जबकि चालक और उसके दो सहयोगियों को गिरफ्तार कर लिया गया था। अधिकारी ने बताया कि एनआईए ने गत 10 फरवरी को इस मामले में जांच शुरू की और इस ‘‘घुसपैठ-परिवहन मॉड्यूल'' के तीन और आतंकी सहयोगियों को गिरफ्तार किया।

अधिकारी ने कहा कि कश्मीर घाटी में कई स्थानों पर तलाशी अभियान चलाया गया और दस्तावेजों और डिजिटल उपकरणों सहित सामग्री जब्त की गई। एनआईए अधिकारी ने कहा कि जांच के दौरान यह पता चला कि जनवरी में अपने इस असफल प्रयास के अलावा, इस मॉड्यूल को दिसंबर 2019 में तीन पाकिस्तानी आतंकवादियों का एक समूह मिला था, जब उन्होंने सांबा सेक्टर में अंतरराष्ट्रीय सीमा से भारत में घुसपैठ की और वे आतंकवादियों को दक्षिण कश्मीर ले गए थे। अधिकारी ने कहा कि यह मॉड्यूल पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के हैंडलर और उन आतंकी कमांडरों के संपर्क में था जो ताजा घुसपैठ करने वाले आतंकवादियों के स्थान के बारे में जानकारी और आतंकवादियों को लेने के लिए ‘‘कूट शब्द'' सुरक्षित मैसेजिंग ऐप पर चालक समीर को भेजते थे।

एनआईए प्रवक्ता ने कहा कि अन्य गिरफ्तार आरोपी सुहैब, जहूर और सुहैल जैश ए मोहम्मद के ‘ओवरग्राउंड वर्कर्स' थे और वे पाकिस्तानी आतंकवादियों को घुसपैठ करने और उन्हें उनकी जगह पर पहुंचाने के लिए साजोसामान, संचार के साथ ही सुरक्षित ठिकाना भी मुहैया कराते थे। एनआईए अधिकारी ने कहा कि दो एके -47 राइफल, एक एके -56, दो एके -74, एक एम 4 कार्बाइन, दो ग्लॉक पिस्तौल, तीन चीनी पिस्तौल, 35 ग्रेनेड, 12 किलोग्राम उच्च श्रेणी का विस्फोटक, तीन सैटेलाइट फोन, छह वायरलेस उपकरण, छह रिमोट कंट्रोल, नौ डेटोनेटर और बैटरियां भी जब्त की गई हैं जो पाकिस्तानी आतंकवादियों द्वारा लाई गई थीं। उन्होंने बताया कि आतंकवादियों को ले जाने के लिए इस्तेमाल किए गए ट्रकों और कार को भी जब्त कर लिया गया है। अधिकारी ने कहा कि मामले में आगे की जांच चल रही है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Author

rajesh kumar

Related News

Recommended News