War Live: 48 घंटे में खत्म होगी जंग ! तुर्की में मिलेंगे पुतिन-जेलेंस्की, UN महासचिव जाएंगे रूस

punjabkesari.in Saturday, Apr 23, 2022 - 10:54 AM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः यूक्रेन-रूस जंग को 60 से अधिक दिन हो चुके हैं, लेकिन दोनों देशों के बीच शांति वार्ता सफल नहीं हो सकी है । इस बीच तुर्की ने बड़ा दावा किया कि 48 घंटे के भीतर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन और यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की की इंस्ताबुल में मुलाकात हो सकती है। तुर्की के राष्ट्रपति तैयप एर्दोगन ने कहा- हमें उम्मीद है कि अगले 48 घंटे में रूस और यूक्रेन के बीच जंग थम जाएगा। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्ष जल्द मिलकर समस्या को सुलझाएंगे। हम दोनों देश के नेताओं के संपर्क में हैं।

PunjabKesari

Live Updates:- 

  • वहीं मीडिया रिपोर्ट की मानें तो संयुक्त राष्ट्र (UN) के जनरल सेक्रेटरी एंटोनियो गुटेरेस अगले हफ्ते मंगलवार को मॉस्को जाएंगे व रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात करेंगे। UN  प्रवक्ता ने बताया कि पुतिन और गुटेरस के बीच मंगलवार को मॉस्को में मीटिंग प्रस्तावित है। गुटेरेस रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव से भी मुलाकात करेंगे।
  • द कीव इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक, गुटेरेस गुरुवार को यूक्रेन भी जाएंगे। वे वहां राष्ट्रपति जेलेंस्की से भी मुलाकात करेंगे। बता दें कि गुटेरेस ने इसी हफ्ते रूस और यूक्रेन को लेटर लिखा था। इसमें दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्षों से मुलाकात की अपील की गई थी।
  • शुक्रवार को रूसी सैनिकों की ओर से खार्किव के बाहरी इलाकों में आवासीय परिसरों पर जमकर बमबारी की।  इस दौरान यूक्रेनी सेना भी रूसी सैनिकों के हमले का जवाब देती रही। 
  • उधर, मारियुपोल के निवासी जान बचाने के लिए तरस रहे हैं क्योंकि रूस-यूक्रेन के बीच लगातार युद्ध जारी है. रूसी सैनिकों से घिरे मारियुपोल में फंसे नागरिकों का कहना है कि जल्द से जल्द युद्ध विराम की घोषणा की जाए ताकि उनकी जान बच सके। 
  •  डोनेट्स्क में भी स्थानीय लोग भी शांति की उम्मीद कर रहे हैं।  यूक्रेन के ओडेसा शहर के कई निवासियों ने अपने घरों को छोड़ दिया है. ये सभी रूसी सेना के शहर में उतरने के डर के वापस जाने से हिचकिचा रहे हैं।  
  • वहीं, रूस का कहना है कि उसने यूक्रेन में अपने विशेष सैन्य अभियान का दूसरा चरण शुरू कर दिया है। रूस की ओर से दावा किया गया है कि उसने अज़ोवस्टल प्लांट के अलावा पूरे मारियुपोल पर कब्जा कर लिया है। 

 PunjabKesari
ताइवान ने यूक्रेन को भेजी मदद
रूस-यूक्रेन जंग में जहां चीन रूस की मदद कर रहा है, वहीं ताइवान ने यूक्रेन का समर्थन करते हुए करीब 8 मिलियन डॉलर यानी 611 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है। इस रकम का इस्तेमाल वहां हॉस्पिटल और मेडिकल सर्विसेस को फिर से शुरू करने के लिए किया जाएगा।

 

जंग में 13,000 से ज्यादा रूसी सैनिक मरेः रिपोर्ट  
मीडिया रेडोव्का की रिपोर्ट के मुताबिक, यूक्रेन के हमले में 13 हजार 414 रूसी सैनिकों की मौत हुई है, जबकि 7 हजार रूसी सैनिक अभी भी लापता हैं। इसकी पुष्टि रूसी रक्षा मंत्रालय की एक गोपनीय ब्रीफिंग में की गई थी। हालांकि, रेडोव्का ने बाद में इस रिपोर्ट को अपने ट्विटर अकाउंट से हटा दिया।

PunjabKesari

 ब्लैक सी में 27 रूसी सैनिक लापता
रूस ने बयान जारी कर कहा है कि ब्लैक सी में जहाज पर यूक्रेनी हमले से उसके 27 सैनिक लापता हो गए हैं, जबकि एक सैनिक की मौत हो गई है। रूसी रक्षा मंत्रालय ने आगे कहा कि हमने 396 क्रू मेंबर्स को रेस्क्यू कर लिया है। मास्कोवा में 14 अप्रैल को यूक्रेन ने रूसी जंगी जहाज पर हमला किया था।

 

ब्रिटेन खोलेगा कीव में दूतावास 
ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कीव में दूतावास खोलने की घोषणा की है। जंग के बाद ब्रिटेन ने अपना दूतावास बंद कर दिया था। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस और यूक्रेन से जंग रोकने की अपील की है। मोदी ने कहा है कि दोनों देश शांति के लिए बातचीत करें। यूक्रेनी सेना ने कहा है कि पूर्वी यूक्रेन के डोनेट्स्क इलाके में अभी भी रूसी हमले जारी हैं। रूसी सैनिकों ने रिहायशी इमारतों पर भी हमला किया है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News