तालिबान  की पाकिस्तान को चेतावनी-अफगानिस्तान के आंतरिक मामलों में दखल बंद करो

punjabkesari.in Thursday, Sep 29, 2022 - 03:34 PM (IST)

इंटरनेशनल डेस्क: संयुक्त राष्ट्र महासभा के 77वें सत्र में तालिबान ने पाकिस्तान को जमकर फटकार लगाई।  अफगानिस्तान में आतंकवादी समूहों की मौजूदगी का दावा करने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की टिप्पणी का जिक्र करते हुए तालिबान ने मंगलवार को  कहा कि पाकिस्तान  अफगानिस्तान के आंतरिक मामलों में दखल देना बंद करे। टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, राजनीतिक मामलों के तालिबान के उप विदेश मंत्री शेर मोहम्मद अब्बास स्टेनकजई ने पाकिस्तान से अफगानिस्तान के आंतरिक मुद्दों में हस्तक्षेप करना बंद करने का आह्वान किया।

 

स्टेनकजई ने कहा कि इस्लामिक अमीरात पाक के दावों का खंडन और निंदा करता है और वह किसी को भी अफगानिस्तान के प्रति इस तरह के बयान देने की अनुमति नहीं देगा। उन्होंने कहा हम पाकिस्तान के प्रधानमंत्री  या किसी को भी इस्लामिक अमीरात के खिलाफ बोलने की इजाजत नहीं देते हैं। यदि पाकिस्तान को आर्थिक समस्या है और उसे अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष की काली सूची में डाल दिया जाता है, तो कोई भी उन्हें पैसे देने के लिए काल नहीं करता है।यदि आपको (पाकिस्तान) ऋण नहीं दिया जाता है, तो यह आपकी समस्या है, किसी भी तरह से अपना रास्ता बनाएं, लेकिन अफगानिस्तान के लोगों की गरिमा के बारे में बात ना करें और सिर्फ कुछ पैसे कमाने के लिए अफगानिस्तान को बदनाम ना करें।

 

विशेष रूप से, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने अफगानिस्तान से उत्पन्न होने वाले आतंकवाद के खतरे पर चिंता व्यक्त की। टोलो न्यूज ने बताया, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान विशेष रूप से इस्लामिक स्टेट-खोरासन (आईएसआईएस-के) और तहरीक-ए तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी), साथ ही अल-कायदा, पूर्वी तुर्किस्तान से संचालित प्रमुख आतंकवादी समूहों द्वारा उत्पन्न खतरे के बारे में अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की प्रमुख चिंता साझा करता है। 

 

शरीफ के इस बयान पर इस्लामिक अमीरात और अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई की प्रतिक्रिया आई। टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, करजई ने एक बयान में कहा कि अफगानिस्तान आतंकवाद का शिकार रहा है और देश में पाकिस्तानी सरकार के तहत आतंकवादी पनाहगाह सक्रिय हैं और उन्हें अफगानिस्तान के खिलाफ दशकों से इसका इस्तेमाल किया जा रहा है।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News