चीन के शंघाई में 2 माह बाद कोविड पाबंदियों में ढील, पटरी पर लौटी कैद लोगों की जिंदगी

punjabkesari.in Wednesday, Jun 01, 2022 - 10:57 AM (IST)

 बीजिंग: चीन के सबसे बड़े शहर शंघाई में करीब दो महीने पहले लगाई गईं कोविड-19 संबंधी पाबंदियों में ढील देने के बाद बुधवार को यहां जनजीवन एक बार फिर पटरी पर लौटता दिखा। इन पाबंदियों के कारण राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पहुंचा है। लॉकडाउन के कारण शहर के लाखों लोगों को घरों में रहना पड़ रहा था। बस और मेट्रो सेवाएं बुधवार से पूर्ण रूप से बहाल की गईं। हालांकि, अब भी 2.5 करोड़ की आबादी वाले शहर में पांच लाख से अधिक लोग निरुद्ध क्षेत्रों में हैं।

 

सरकार ने कहा है कि पाबंदियां धीर-धीरे हटाई जाएंगी। हालांकि, स्थानीय समितियां आवश्यकता पड़ने पर कभी भी पाबंदियां दोबारा लगा सकती हैं। पर्यटन जगत से नाता रखने वाली काओ यू ने कहा कि वह ‘‘लोगों को सड़कों पर देखकर काफी खुश हैं।'' उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में बिताए बीते दो महीने काफी तनावपूर्ण थे। उच्च विद्यालय की लू केक्सिन ने बताया कि वह मार्च के बाद पहली बार समुद्र किनारे बुंड आई हैं और इतने दिनों से घर में कैद रहकर वह परेशान हो गईं थी। उन्होंने कहा, ‘‘मैं बेहद खुश हूं।''

 

स्कूल आंशिक रूप से छात्रों के लिए स्वैच्छिक आधार पर दोबारा खुलेंगे और शॉपिंग मॉल, सुपरमार्केट, बाजार एवं दवाओं की दुकानों को 75 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित करने की अनुमति होगी। हालांकि, सिनेमाघर और जिम फिलहाल बंद रहेंगे। स्वास्थ्य अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि शंघाई में कोविड-19 के 15 नए मामले सामने आए, जबकि अप्रैल में यहां दो हजार दैनिक मामले सामने आ रहे थे। सरकारी अधिकारियों ने कहा कि हाल में मामले कम होने के बाद ही पाबंदियों में धीरे-धीरे ढील देने का फैसला किया गया है।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News