रिपोर्ट में दावाः जलवायु परिवर्तन के चलते 20 करोड़ लोग कर सकते हैं पलायन

09/14/2021 6:38:20 AM

 बार्सिलोनाः विश्व बैंक की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि यदि वैश्विक उत्सर्जन कम करने के लिये तत्काल कदम नहीं उठाए गए और विकास के अंतराल को नहीं पाटा गया तो जलवायु परिवर्तन के चलते अगले तीन दशक में 20 करोड़ से अधिक लोग अपने घरों को छोड़ सकते हैं, जिससे प्रवासियों के हॉटस्पॉट बन सकते हैं। 
PunjabKesari
'ग्राउंड्सवेल' की रिपोर्ट का दूसरा हिस्सा सोमवार को प्रकाशित किया गया। इसमें बताया गया है कि कैसे धीमी गति से शुरू होने वाले जलवायु परिवर्तन के प्रभाव जैसे पानी की कमी, घटती फसल उत्पादकता और बढ़ते समुद्र के स्तर से लाखों लोग प्रभावित हो सकते हैं। रिपोर्ट में 2050 तक ''जलवायु प्रवासियों'' के रूप में तीन अलग-अलग परिदृश्यों के तहत जलवायु कार्रवाई और विकास के अलग-अलग पहलुओं का वर्णन किया गया है।
PunjabKesari
रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि अगले दशक के भीतर प्रवासी हॉटस्पॉट प्रकट हो सकते हैं और 2050 तक इनकी संख्या में तेजी से वृद्धि हो सकती है। इसमें कहा गया कि 20 करोड़ से अधिक लोग जलवायु परिवर्तन से प्रभावित हो सकते हैं। 
PunjabKesari


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Recommended News