वार्ता, परामर्श के लिए अमेरिकी राज्य के लगभग दो दर्जन न्यायाधीश भारत की यात्रा करेंगे

punjabkesari.in Wednesday, Jan 25, 2023 - 12:16 AM (IST)

वाशिंगटन, 24 जनवरी (भाषा) अमेरिकी राज्य के करीब दो दर्जन न्यायाधीश जिनमें आधा दर्जन से अधिक भारतीय अमेरिकी शामिल हैं, अपने भारतीय समकक्षों के साथ बातचीत और परामर्श के लिए अगले महीने की शुरुआत में भारत की यात्रा करेंगे। मंगलवार को यहां इसकी घोषणा की गई।

यह शायद पहली बार है जब अमेरिकी राज्य के न्यायाधीशों का एक बड़ा दल भारतीय कानूनी बिरादरी के साथ बातचीत करने के लिए भारत का दौरा करेगा, जो दोनों देशों के बीच बढ़ते न्यायिक संबंधों का संकेत है।

सात भारतीय अमेरिकी न्यायाधीशों सहित 23 अमेरिकी राज्य अदालत के न्यायाधीशों का प्रतिनिधिमंडल प्रधान न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़, दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश और न्यायाधीशों के साथ-साथ बंबई उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश और न्यायाधीशों से मुलाकात करेगा। दौरे की तारीख की घोषणा नहीं की गई है।

अमेरिकी राज्य अदालत के न्यायाधीशों के प्रतिनिधिमंडल के नेता न्यायमूर्ति संजय टी दर्जी ने फरवरी की शुरुआत में यात्रा पर एक बयान में कहा, ‘‘हम अपनी न्यायिक प्रणाली पर बातचीत और विचारों के आदान-प्रदान के लिए भारत आ रहे हैं।’’ दर्जी 20 वर्षों तक अमेरिका में राज्य अदालत के न्यायाधीश रहे हैं, भारत की न्याय प्रणाली में उनकी विशेष रुचि है। दर्जी ने दिसंबर 2009 में भारत में एक कानूनी विनिमय यात्रा में अमेरिकी बार एसोसिएशन प्रतिनिधिमंडल के एक प्रतिनिधि के रूप में भाग लिया था और तब से उन्होंने अमेरिकन बार एसोसिएशन के अन्य प्रतिष्ठित सदस्यों के साथ सोसायटी ऑफ इंडियन लॉ फर्म (एसआईएलएफ) और इंडिया कमेटी ऑफ द अमेरिकन बार एसोसिएशन सेक्शन ऑफ इंटरनेशनल लॉ द्वारा प्रायोजित तीन कानूनी सम्मेलनों में भाग लिया।

दर्जी ने एक मीडिया विज्ञप्ति में कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि हमारे प्रतिनिधिमंडल के न्यायाधीशों को माननीय प्रधान न्यायाधीश और भारत के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों, माननीय मुख्य न्यायाधीश और दिल्ली उच्च न्यायालय के न्यायाधीशों, बंबई उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एवं न्यायाधीशों सहित भारत के बार नेताओं के साथ बातचीत एवं विचारों के आदान-प्रदान का अवसर मिलेगा।’’

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News