खैबर पख्तूनख्वा से फाटा का अलग होना प्राथमिक मांग : टीटीपी

punjabkesari.in Thursday, Jun 30, 2022 - 04:12 PM (IST)

इस्लामाबाद, 30 जून (भाषा) प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) ने कहा है कि वह खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के साथ पूर्ववर्ती संघीय प्रशासित कबायली क्षेत्रों (फाटा) के विलय संबंधी फैसले को वापस लिये जाने की अपनी मांग से पीछे नहीं हटेगा।

टीटीपी के प्रमुख मुफ्ती नूर वली महसूद ने एक यूट्यूबर के साथ साक्षात्कार के दौरान यह बात कही।

उन्होंने कहा, ‘‘हमारी मांगें स्पष्ट हैं... विशेषकर केपी के साथ फाटा के विलय संबंधी फैसले को वापस लेना हमारी प्राथमिक मांग है जिससे समूह पीछे नहीं हट सकता।’’ गृह मंत्री राणा सनाउल्लाह ने हाल में खैबर पख्तूनख्वा (केपी) के साथ विलय संबंधी फैसले को वापस लेने से इनकार कर दिया था। यह विलय 2018 में एक संवैधानिक संशोधन के जरिये किया गया था।

पड़ोसी देश में अफगान तालिबान की अंतरिम सरकार के तत्वावधान में काबुल में पाकिस्तान सरकार और टीटीपी के बीच बातचीत हुई है।

टीटीपी प्रमुख ने कहा कि संगठन और सरकार के बीच बातचीत जारी है लेकिन अभी तक कोई बड़ी सफलता नहीं मिली है।

नूर वली ने कहा, ‘‘बातचीत अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है।"

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News