''इस्लामोफोबिया'' के खिलाफ पुतिन के ''कड़े बयान'' से खुश हुए इमरान

punjabkesari.in Monday, Jan 17, 2022 - 07:45 PM (IST)

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सोमवार को रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से बात की और दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय सहयोग के साथ-साथ क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचार साझा किए। पाकिस्तानी विदेश कार्यालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, बातचीत के दौरान खान ने पुतिन के उस ''कड़े बयान'' की प्रशंसा की, जिसमें रूसी राष्ट्रपति ने कहा था कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की आड़ में पैगंबर को अपशब्द नहीं कहे जा सकते।

 

पुतिन के साथ फोन पर हुई बातचीत में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने संबोधन में लगातार 'इस्लामोफोबिया' और इससे संबंधित घृणा के संबंध में वृद्धि का उल्लेख किया है। साथ ही इसके गंभीर प्रभावों की ओर भी इशारा किया है। बयान के मुताबिक, खान ने राष्ट्रपति पुतिन के उस बयान की प्रशंसा की कि पवित्र पैगंबर मोहम्मद के अपमान करने को कलात्मक स्वतंत्रता की अभिव्यक्ति के रूप में नहीं देखा जा सकता।

 

खान ने कहा, '' वह (पुतिन) ऐसे पहले पश्चिमी नेता हैं, जिन्होंने प्रिय पैगंबर के लिए मुसलमानों की भावनाओं के प्रति सहानुभूति और संवेदनशीलता दिखाई है।'' खान ने कहा कि उनकी पाकिस्तान और रूस के बीच व्यापार और अन्य पारस्परिक हित वाले बिंदुओं पर आगे बढ़ने के तौर-तरीकों पर भी चर्चा हुई और दोनों ने एक-दूसरे को अपने-अपने देशों का दौरा करने के लिए आमंत्रित किया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News