पाकिस्तान में श्रीलंका से हालातः खत्म होने के कगार पर विदेशी मुद्रा भंडार, आग में घी डाल रहे इमरान खान

punjabkesari.in Thursday, May 26, 2022 - 11:32 AM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः आर्थिक मंदहाली को लेकर पाकिस्तान के हालत श्रीलंका जैसे होते जा रहे हैं। इस वक्त पाकिस्तान की हालत इतनी खराब है कि पेट्रोल पंपों पर पेट्रोल नहीं, एटीएम में कैश नहीं है और आम आदमी परेशान हो रहा है। पाकिस्तान में अप्रैल तक महंगाई दो सालों के उच्चतम स्तर पर पहुंचते हुए 13.4 फीसदी हो गई है। ऐसे में पाकिस्तानी केंद्रीय बैंक ने हाल ही में ब्याज दरें 150 बेसिस प्वाइंट बढ़ाते हुए इसे 13.75 फीसदी कर दिया ताकि महंगाई पर काबू पाया जा सके। 

 

दूसरी ओर पूर्व पीएम इमरान खान मौजूदा सरकार के खिलाफ प्रदर्शन कर आग में घी डालने का काम कर रहे हैं। वह लगातार रैलियां कर रहे हैं और उनकी पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ सड़कों पर उतर गई है। ऐसे वक्त में जब पाकिस्तान की हालत पहले से ही बहुत खराब है, विदेशी मुद्रा भंडार खत्म होने के कगार पर है। पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार तेजी से गिरता जा रहा है। हालात ये हैं कि पाकिस्तान के पास सिर्फ दो महीने के आयात जितनी ही विदेशी मुद्रा बची है। 

 

पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक के पास विदेशी मुद्रा भंडार घटकर 10.3 अरब डॉलर पर आ चुका है। ऐसे में अब ये कहा जा रहा है कि पाकिस्तान की हालत भी श्रीलंका जैसी हो सकती है और वह भी अपने लोन चुकाने में डिफॉल्ट कर सकता है। अपना विदेशी मुद्रा भंडार और घटने से बचाने के लिए हाल ही में पाकिस्तान ने फोन, शैंपू, पास्ता, कार, फोन, सूखे मेवे, मांस, फल, फर्नीचर, घरेलू उपकरण, हथियार, मेकअप, सिगरेट समेत करीब 38 सामानों के आयात पर बैन भी लगा दिया है।

 

पाकिस्तानी रुपए पर दबाव तेजी से बढ़ता जा रहा है। हालात ये हैं कि अब एक डॉलर की कीमत 200 पाकिस्तानी रुपए के बराबर पहुंच चुकी है। यानी सीधे-सीधे कहें तो डॉलर के मुकाबले पाकिस्तानी रुपया तेजी से कमजोर होता जा रहा है। पाकिस्तान में तेल और बिजली पर सब्सिडी दी जा रही है और विशेषज्ञ मानते हैं कि जब तक उसे खत्म नहीं किया जाता, रुपया गिरता ही रहेगा। इसकी गिरावट रोकने का एक तरीका ये हो सकता है कि अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष यानी आईएमएफ (IMF) 1 अरब डॉलर की सहायता राशि जारी कर दे। इसे लेकर पाकिस्तानी अधिकारी आईएमएफ से बात भी कर रहे हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News