कंगाल पाकिस्तान की कानून व्यवस्था भी बदहाल, इंडेक्स रेंकिंग में 130 वें स्थान पर

10/20/2021 2:14:58 PM

पेशावरः आंतकवाद को पनाह देने वाला पड़ोसी देश पाकिस्तान हर मोर्चे पर फिसड्डी साबित हो रहा है। कंगाली से जूझ रहा पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) के समक्ष तो अपनी साख गंवा ही चुका है लेकिन अब व‌र्ल्ड जस्टिस प्रोजेक्ट के रूल आफ ला इंडेक्स 2021 की रैंकिंग में उसकी किरकिरी हो गई है।  139 देशों की अश रेंकिंग में पाकिस्तान 130 वें स्थान पर है। इससे पता चलता है कि आतंकियों के आका देश में कानून के शासन की क्या स्थिति है।

 

रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि पाकिस्तान भ्रष्टाचार, मौलिक अधिकारों, व्यवस्था तथा सुरक्षा एवं नियामक प्रवर्तन के मामलों में क्षेत्रीय देशों में सबसे खराब स्थिति में है। जहां तक आपराधिक न्याय प्रणाली, नागरिक न्याय, खुली सरकार और सरकारी शक्तियों पर बाधाओं का सवाल है तो पाकिस्तान छह क्षेत्रीय देशों में चौथे स्थान पर है। वैश्विक तौर पर 139 देशों में से व्यवस्था और सुरक्षा के मामले में पाकिस्तान तीन सबसे खराब देशों में से है।  यही नहीं इमरान सरकार के कार्यकाल के दौरान पाकिस्तान में भ्रष्टाचार अपने चरम पर है।

 

द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट में भ्रष्टाचार के तीन रूपों पर विचार किया गया, जिसमें रिश्वतखोरी, सार्वजनिक या निजी हितों से अनुचित प्रभाव, और सार्वजनिक धन या अन्य संसाधनों का दुरुपयोग शामिल है। इसमें कार्यकारी शाखा, न्यायपालिका, सेना, पुलिस और विधायिका में सरकारी अधिकारियों के संबंध में भ्रष्टाचार के इन तीन रूपों की जांच की जाती है। यहां पाकिस्तान 0.31 के स्कोर के साथ 123वें स्थान पर है। भ्रष्टाचार के मामले में पाकिस्तान रेड जोन में आता है जिसका मतलब है कि उन देशों में शामिल है जहां भ्रष्टाचार का स्तर बड़े पैमाने पर है।

 

द न्यूज इंटरनेशनल की रिपोर्ट के मुताबिक  स्कोर जीरो से एक के बीच था  जिसमें एक कानून के शासन का सबसे मजबूत पालन दर्शाता है। पाकिस्तान ने 0.39 का खराब स्कोर हासिल किया। दक्षिण एशिया में पाकिस्तान से नीचे अफगानिस्तान है। कानून के शासन की श्रेणी में नेपाल, श्रीलंका, भारत तथा बांग्लादेश का प्रदर्शन पाकिस्तान से बेहतर रहा।
 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News