पाई-पाई को मोहताज हुआ  पाकिस्तान, अर्थव्यवस्था चलाने के लिए अमीरों पर लगाया ''सुपर टैक्स''

punjabkesari.in Saturday, Jun 25, 2022 - 12:23 PM (IST)

इंटरनेशनल डेस्कः पाई-पाई को मोहताज पाकिस्तान के लिए अर्थव्यवस्था चलाना मुश्किल हो रहा है। इसके लिए सरकार तरह-तरह के जुगाड़ में जुटी है।  प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने शुक्रवार को ऐलान किया कि अब वह अमीरों पर 10 फीसदी सुपर टैक्स लगाएगी। इसके अलावा लार्ज स्केल इंडस्ट्रीज को भी सुपर टैक्स के दायरे में रखा गया है। सुपर टैक्स के दायरे में आने वाले अमीरों पर उनकी कमाई के हिसाब से टैक्स लगाया जाएगा। जिनकी सालाना कमाई 150 मिलियन से ज्यादा है उनके ऊपर 1 परसेंट, 200 मिलियन से ऊपर की कमाई वालों पर 2 परसेंट, 250 मिलियन से ज्यादा की कमाई वालों पर 3 परसेंट और साल भर में 300 मिलियन से ज्यादा कमाने वालों पर 4 फीसदी का टैक्स लगाया जाएगा।

 

बहुत ज्यादा कमाई वाले व्यक्तियों के साथ-साथ कई इंडस्ट्रीज को भी लाया गया है। इन इंडस्ट्रीज में सीमेंट, स्टील, शुगर, तेल व गैस, फर्टिलाइजर, एलएनजी टर्मिनल्स, टेक्सटाइल्स, बैंकिंग, ऑटोमोबाइल, सिगरेट, मादक पदार्थ, केमिकल्स, एयरलाइंस आदि शामिल हैं। संसद में बजट सत्र के आखिर दिन प्रधानमंत्री ने इसे एक कड़ा निर्णय बताया। उन्होंने कहा कि देश को गंभीर संकट से बचाने के लिए गठबंधन सरकार ने यह साहसी फैसला लिया है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि जब सरकार सत्ता में आई थी, तब उसके पास दो विकल्प थे। या तो वह फिर से चुनाव कराती या फिर कठोर फैसले लेकर देश के आर्थिक हालात को सही करती।

 

उन्होंने कहा कि यह बेहद आसान था कि लोगों को परेशानी में छोड़ दिया जाए और दूसरों की तरह मूक दर्शक बनकर तमाशा देखा जाए। उन्होंने कहा कि कठिन हालात होने के बावजूद सरकार ने कठोर कदम उठाने का फैसला किया। उन्होंने यह भी कहा कि देश ने अधिक मुश्किलों का सामना किया है। हमेशा गरीबों ने कुर्बानी दी है। आज यह समय है कि सक्षम लोग भी देश के लिए अपनी जिम्मेदारी निभाएं। अब उनकी बारी है कि वह नि:स्वार्थ भाव से सामने आएं। साथ ही पीएम ने इस बात का भी विश्वास जताया कि लोग ऐसा करेंगे। 

 

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का यह ऐलान उस वक्त हुआ है जब यहां के स्टॉक एक्सचेंज में भारी गिरावट आई है। यहां के केएसई-100 इंडेक्स में 2053 प्वॉइंट की तेज गिरावट आई है। शाहबाज शरीफ के ऐलान के बाद वित्तमंत्री मिफ्ता इस्माइल ने बाद में इसको लेकर ट्विटर पर सफाई जारी की। 10 पर्सेंट 'सुपर टैक्स' उन्होंने कहा कि यह वन टाइम टैक्स होगा, जो पिछले चार बजट घाटों के बाद उठाया गया है। उन्होंने लिखा कि 4 परसेंट का सुपर टैक्स सभी सेक्टर्स पर लागू होगा। लेकिन 13 सेक्टर्स पर छह फीसदी और यानी कुल 10 फीसदी का सुपर टैक्स लगेगा। इस तरह से इनका टैक्स रेट 29 फीसदी से बढ़कर 39 फीसदी हो जाएगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News