पाकिस्तान में मजदूर की हिरासत में हत्या, विरोध में लोगों ने निकाला रोष मार्च

punjabkesari.in Thursday, Dec 02, 2021 - 01:14 PM (IST)

इस्लामाबाद:  पाकिस्तान में पुलिस हिरासत में एक मजदूर की मौत के बाद उसके रिश्तेदारों ने सोमवार को पाकिस्तान के थट्टा शहर में रोष मार्च निकाला और पुलिस पर हत्या करने का आरोप लगाया। पाकिस्तान के अखबार डॉन ने बताया कि रोष मार्छ में दर्जनों राजनीतिक, राष्ट्रवादी और नागरिक समाज के कार्यकर्ताओं ने भी भाग लिया। प्रदर्शनकारियों ने माकली से अपना मार्च शुरू किया और थट्टा प्रेस क्लब के बाहर धरना दिया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मृतक  मजदूर सदरुद्दीन वल्हारी की कथित तौर पर गोली मारकर हत्या कर दी गई लेकि  घरो पुलिस ने दावा किया किया उसकी एक 'मुठभेड़' में मौत हुई, जिसमें दो पुलिसकर्मी भी मारे गए थे।

 

उधर प्रदर्शनकारियों व मृतक की पत्नी ने दादली वल्हारी प्रेस क्लब के बाहर मीडिया कर्मियों को बताया कि "पुलिस टीम ने न केवल सदरुद्दीन वल्हारी को मार डाला, बल्कि आधिकारिक हथियार लहराकर हत्या का जश्न भी मनाया। यह सब  नकली मुठभेड़ स्थल पर एकत्र हुए लोगों ने तब देखा जब उनकी मोबाइल वैन उसके पति की लाश लेकर जा रही थी।  दादली वल्हारी ने यह भी बताया कि वह और उसके परिवार के सदस्य घटना के बाद से ही पुलिस थाने और उच्च पुलिस अधिकारियों के कार्यालयों में चक्कर लगा रहे हैं लेकिन प्राथमिकी दर्ज कर नहीं गई।

 

एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि घरो एसएचओ मुमताज ब्रोही और उनकी टीम  के उठाकर ले जाने के बाद मृतक वल्हारी लापता हो गया था। इस बीच  प्रदर्शनकारियों ने एसएचओ ब्रोही और उनके अधीनस्थों के खिलाफ भी नारेबाजी की और वल्हारी की "हिरासत में हत्या" की निष्पक्ष जांच की मांग की। डॉन की रिपोर्ट के अनुसार पुलिस ने घटना  को लेकर दिए आधिकारिक बयान में  दावा किया है कि घरो पुलिस ने कुछ 'डकैतों' को गिरफ्तार करने के लिए मकली शहर के एक फार्महाउस पर छापा मारा था। फार्महाउस पर दोनों पक्षों में झड़प हो गई, जिसमें एक 'डकैत' और दो कांस्टेबल की मौत हो गई।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News