अल-जवाहिरी की मौत से खौफजदा पाकिस्तान, भारत के सर्जिकल स्ट्राइक का सताने लगा डर

punjabkesari.in Saturday, Aug 06, 2022 - 12:48 PM (IST)

इस्लामाबादः अफगानिस्तान में अमेरिकी ड्रोन हमले से अल-कायदा प्रमुख अयमान-अल जवाहिरी की मौत से पाकिस्तान सदमे है। पाकिस्तान के खौफ की वजह है कि कहीं भारत उसके देश में ऐसी कार्रवाई को अंजाम न दे दे। विशेषज्ञों का कहना है कि स्थानीय सरकार अंतरराष्ट्रीय कानूनों की मदद से देश की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का हवाला देने में जुटी हुई है। उसे इस बात का डर है कि भारत भी आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए फिर सर्जिकल या एयर स्ट्राइक जैसे प्रयास कर सकता है।

 

बता दें कि बीते सोमवार को  अमेरिकी ड्रोन हमले में अल-जवाहिरी को मारा गया। अल-जवाहिरी दुनिया के सबसे वांटेड आतंकवादियों में से एक था। वह 11 सितंबर, 2001 के हमलों का मास्टरमाइंड भी था। वह बीते शनिवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में अमेरिका द्वारा किए गए ड्रोन हमले में मारा गया।  मीडिया रिपोर्ट के अनुसार गुरुवार को एक साप्ताहिक समाचार ब्रीफिंग के दौरान पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता असीम इफ्तिखार से अल-कायदा प्रमुख को लेकर सवाल किया गया।

 

उनसे पूछा गया कि क्या जवाहिरी को बाहर निकालने के लिए पाकिस्तानी हवाई क्षेत्र और खुफिया एजेंसियों की भी मदद ली गई, तो उन्होंने इससे इंकार किया।  असीम इफ्तिखार ने कहा, "इस कार्रवाई का कोई सबूत नहीं है कि पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र का उपयोग किया गया है।" इसके अलावा उनसे एक दूसरा सवाल पूछा गया कि क्या पाकिस्तान ऐसे आतंकवाद विरोधी अभियानों का समर्थन करता है। प्रवक्ता ने जोर देकर कहा कि पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय कानून और संयुक्त राष्ट्र के प्रासंगिक प्रस्तावों के अनुसार आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए खड़ा है।

 

उन्होंने पाकिस्तान के रुख को स्पष्ट करते हुए कहा, "इन प्रस्तावों के तहत विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय दायित्व हैं। अल-कायदा के बारे में मुझे लगता है कि यह स्पष्ट है कि यह एक आतंकवादी इकाई है, जो संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की लिस्ट में भी शामिल है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद राज्यों द्वारा निर्धारित कार्रवाई करने के लिए बाध्य हैं।“


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News