अफगानिस्तान में पाक की बेइज्जती, संसदीय प्रतिनिधिमंडल को नहीं मिली लैंडिंग की इजाजत

2021-04-10T16:48:47.993

इंटरनेशनल डेस्कः अफगानिस्तान में पाकिस्तान की बेइज्जती, साधारण टावर ऑपरेटर ने  संसदीय प्रतिनिधिमंडल को नहीं दी लैंडिंग की इजाजतपाकिस्तान को अफगानिस्तान में  उस समय बेइज्जती का सामना करना पड़ा जब  एक पाकिस्तानी संसदीय प्रतिनिधिमंडल को लैंडिंग से मना कर दिया गया। मीडिया  रिपोर्ट के मुताबिक जैसे ही विमान काबुल में उतरने वाला था, सुरक्षा खतरे के कारण यात्रा रद्द कर दी गई और लैंडिंग की इजाजत नहीं  दी गई।


अफगानिस्तान के लिए पाकिस्तान के विशेष प्रतिनिधि मोहम्मद सादिक ने गुरुवार को एक ट्वीट में लिखा, "काबुल के लिए स्पीकर की यात्रा को स्थगित कर दिया गया था, क्योंकि सुरक्षा खतरे के कारण हवाई अड्डे को बंद कर दिया गया था। हवाई अड्डे के बंद होने की सूचना मिलते ही विमान उतरने वाला था। यात्रा के लिए नई तारीखों का फैसला आपसी विचार विमर्श के बाद किया जाएगा।"


मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, संसदीय सचिव असद क़ैसर के नेतृत्व में पांच सदस्यीय संसदीय प्रतिनिधिमंडल, तीन दिवसीय यात्रा के  लिए अफगानिस्तान जाने वाला था। इस दौरान दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए वार्ता होने वाली थी। हालांकि पूर्व पाकिस्तानी सीनेटर फरहतुल्लाह बाबर ने यात्रा के रहस्यमय तरीके से रद्द होने के समय पर सवाल उठाया है।


बाबर ने एक ट्वीट में कहा, "लैंडिंग के समय सुरक्षा का खतरा पैदा हो गया था। क्या यात्रा को पहले से अनुमति नहीं मिली थी? यात्रा को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया था, नई तारीख दी गई। इसके लिए मेजबानों के द्वारा कोई पछतावा नहीं जताया गया है। यात्रा रद्द करने का निर्णय टावर ऑपरेटर का बताया गया। टावर से अतिथि के लिए बोलने वाले मेजबान के उच्च स्तरीय प्रतिनिधि के सामान्य प्रोटोकॉल को नजरअंदाज कर दिया गया। इसमें और भी बहुत कुछ है।"


Content Writer

Tanuja

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static