पाकिस्तान में विवादास्पद मौलवी की प्रशंसा से इंकार पर अहमदी समुदाय के व्यक्ति की हत्या

punjabkesari.in Saturday, Aug 13, 2022 - 12:09 PM (IST)

इस्लामाबादः  पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में एक विवादास्पद मौलवी की प्रशंसा करने से इनकार करने पर एक ‘‘धार्मिक कट्टरपंथी’’ ने अहमदी समुदाय के 62 वर्षीय व्यक्ति की शुक्रवार को चाकू मारकर हत्या कर दी। पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों की हत्या के कई मामले सामने आए हैं। पाकिस्तान की संसद ने 1974 में अहमदी समुदाय को गैर-मुसलमान घोषित किया था। इसके एक दशक बाद उनके स्वयं को मुस्लिम कहने पर प्रतिबंध लगा दिया गया। उन पर तीर्थयात्रा के लिए सऊदी अरब की यात्रा करने और उपदेश देने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

 

ताजा घटना लाहौर से करीब 170 किलोमीटर दूर रबवाह (चिनाब नगर) में हुई। रबवाह अहमदी समुदाय का मुख्यालय है। जमात-ए-अहमदिया पाकिस्तान के प्रवक्ता सलीमुद्दीन ने बताया कि तहरीक-ए-लब्बैक पाकिस्तान (टीएलपी) के संस्थापक खादिम हुसैन रिजवी की प्रशंसा में नारे नहीं लगाने पर एक ‘‘धार्मिक कट्टरपंथी’’ ने रबवाह के मुख्य बस अड्डे पर नसीर अहमद की चाकू मारकर हत्या कर दी। उन्होंने बताया कि संदिग्ध ने अहमद को रोका और उससे रिजवी की प्रशंसा में नारे लगाने को कहा। उसके इनकार करने पर संदिग्ध ने चाकू से उस पर हमला कर दिया। स्थानीय लोगों ने टीएलपी के सदस्य को काबू कर लिया और उसे पुलिस को सौंप दिया।

 

सलीमुद्दीन ने कहा, ‘‘संदिग्ध ने पुलिस हिरासत में टीएलपी के नारे लगाए और व्यक्ति की हत्या करने पर कोई पछतावा नहीं जताया।’’ पुलिस ने बताया कि संदिग्ध की पहचान हाफिज शहजाद हसन सैलवी के रूप में की गई है। वह अपने गृहनगर सरगोधा शहर में एक टीएलपी मदरसे का छात्र रहा है। पुलिस ने संदिग्ध के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है और उसे शनिवार को अदालत में पेश किया जाएगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News