ब्रिटिश संसद में पाकिस्तान की खिंचाई, लार्ड रामी रेंजर बोले- कश्मीर में तबाही के लिए कौन जिम्मेदार?

punjabkesari.in Thursday, May 19, 2022 - 02:57 PM (IST)

लंदन: पाकिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न, अल्पसंख्यकों के साथ होने वाले भेदभाव से पूरी दुनिया वाकिफ है। अभी हाल ही में पाकिस्तान के पेशावर में दो सिख व्यापारियों की हत्या इसकी ताजा मिसाल है। भारत कई बार इन मुद्दों को विश्व के समक्ष रख चुका है। अब ब्रिटेन के लंदन के हाउस ऑफ लॉर्डस ( ब्रिटिश संसद) में भारतीय मूल के लार्ड रामी रेंजर ने पाकिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न का मुद्दा उठाया और पाक को जमकर फटकार लगाई।  ब्रिटिश संसद  जब में लॉर्ड कुर्बान हुसैन ने ब्रिटिश संसद में कश्मीर का मुद्दा उठाया  तो रामी रेंजर ने उनकी बातों पर कड़ी आपत्ती जताते हुए  पाकिस्तान की खिंचाई कर डाली।

 

लार्ड रामी रेंजर ने कहा, कुर्बान हुसैन जानते हैं कि पेशावर में पिछले सप्ताह मज़हब के नाम पर दो सिख व्यापारियों की हत्या कर दी गई। पाकिस्तान में अहमदिया, सिखों, ईसाइयों, हिंदुओं को धर्म के नाम पर सताया और प्रताड़ित किया जाता है। उनका जबरन धर्म परिवर्तन कराया जाता है, शिया मस्जिदों पर हमला किया जाता है।रामी रेंजर ने पाकिस्तान की खिंचाई करते हुए संसद में मौजूद अन्य सदस्यों के समक्ष कुर्बान हुसैन से पूछा कि, कश्मीर में आतंकियों को कौन हथियार सप्लाई कर रहा है? कौन उन्हें ट्रेनिंग दे रहा है, कौन उन्हें कश्मीर जैसे जन्नत में तबाही मचाने के लिए उकसा रहा है?

 

ऐसी स्थिति में सैकड़ों लोग मारे जा रहे हैं। दूसरी तरफ, पाकिस्तान का मानवाधिकार आयोग (HRCP) ने मांग की थी कि पुलिस अपराधियों की पहचान कर उन्हें तुरंत गिरफ्तार करे। HRCP ने कहा, सरकार को यह स्पष्ट करना चाहिए कि धार्मिक अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा बर्दाश्त नहीं की जाएगी। भारत ने पाकिस्तान में सिख व्यापारियों की नृशंस हत्या के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का आह्वान किया। साथ ही भारत ने संबंधित अधिकारियों से इस मामले की ईमानदारी से जांच करने और इस निंदनीय घटना के लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का भी आह्वान किया।


बता दें कि, पाकिस्तान के अशांत खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में रविवार को दो सिख व्यापारियों की अज्ञात बंदूकधारी ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। हमला उपनगर सरबंद में हुआ था। पेशावर पुलिस ने कहा था कि मारे गए दोनों सिख सरबंद के बाटा ताल बाजार में मसाले बेचने वाले दुकानदार थे। मृतकों की पहचान सलजीत सिंह (42) और रंजीत सिंह (38) के रूप में हुई थी। दोनों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। पेशावर में सिख समुदाय के करीब 15 हजार लोग रहते हैं। इनमें से अधिकांश प्रांतीय राजधानी के समीप जोगन शाह में रहते हैं। पेशावर में रहने वाले सिख समुदाय के अधिकांश लोग व्यापार करते हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News