चीन के शहरों में भारी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात, कोरोना वायरस पाबंदियों के खिलाफ प्रदर्शन थमे

punjabkesari.in Wednesday, Nov 30, 2022 - 02:05 PM (IST)

इंटरनेशनल डेस्क: चीन सरकार की ओर से लागू पाबंदियों के विरुद्ध देश के विभिन्न शहरों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं और प्रदर्शनकारी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं। हालांकि मंगलवार को पेइङ्क्षचग, शंघाई और अन्य प्रमुख शहरों में पुलिस कर्मियों की भारी तैनाती के चलते प्रदर्शनकारी शांत रहे। नियमों के अनुसार एक जगह 12 से अधिक लोगों के एकत्र होने पर पाबंदी है। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के पहचान पत्रों की जांच की। किसी को गिरफ्तार नहीं किया गया। 

कुछ शहरों में सोमवार को कोविड-19 पाबंदियों में ढील दी गई थी। इसका मकसद सप्ताहांत में 9 शहरों में हुए विरोध प्रदर्शन के बाद फूटे लोगों के गुस्से को शांत करना था। इस सबके बावजूद सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी अपनी जीरो कोविड रणनीति पर कायम है जिसके चलते लाखों लोगों को अपने घरों में कैद होना पड़ा है। सिंहुआ विश्वविद्यालय के छात्रों ने रविवार को विरोध प्रदर्शन किया जहां से राष्ट्रपति शी जिनपिंग पढ़ाई कर चुके हैं। चीन के विश्वविद्यालय देश में कोविड-19 की रोकथाम के लिए कड़ी होती पाबंदियों के मद्देनजर छात्रों को उनके घर भेज रहे हैं। छात्रों को रेलवे स्टेशनों तक ले जाने के लिए बसों की व्यवस्था की है। 

हांगकांग में प्रदर्शनकारियों ने चीनी विश्वविद्यालय के बाहर पोस्टर लगाए जिन पर लिखा था-‘डरना मत, भूलना मत, माफ मत करना।’ छात्रों ने अपनी पहचान छिपाने के लिए चेहरा ढंककर नारे लगाए ‘कोई पी.सी.आर. जांच नहीं, इनसे आजादी चाहिए’ और ‘तानाशाही का विरोध करो, गुलाम मत बनो’।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Anil dev

Related News

Recommended News