सेव द चिल्ड्रन G-7 शिखर सम्मेलन के नतीजे से निराश

2021-06-15T04:07:56.453

लंदनः सेव द चिल्ड्रन ने इंग्लिश काउंटी ऑफ कॉर्नवाल के समुद्र तटीय लग्जरी होटल में सप्ताहांत में आयोजित जी7 के शिखर सम्मेलन के परिणाम पर अपनी निराशा व्यक्त करते हुए दावा किया कि यह दुनिया को कोविड-19 महामारी से उबरने में मदद करने का एक गलत अवसर था। 
PunjabKesari
गैर -सरकारी संगठन के नीति, वकालत और अभियान के कार्यकारी निदेशक क्रिस्टी मैकनील ने ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में कहा,‘‘यह स्वास्थ्य लाभ का पहला प्रमुख शिखर सम्मेलन माना जाता था और यह नहीं था। हम इस बात से अविश्वसनीय रूप से निराश हैं कि दुनिया को टीकाकरण के लिए क्या पेशकश की गई है और हर बच्चे को सुरक्षित रूप से स्कूल में वापस लाने के लिए क्या पेशकश की गई है।'' 

कार्बिस बे होटल में तीन दिनों से अधिक की चर्चा के दौरान जी7 नेताओं ने कोरोना वायरस बाद आर्थिक सुधार, जलवायु परिवर्तन का मुकाबला करने और विदेश नीति के मुद्दों की एक श्रृंखला से निपटने के लिए अपना एजेंडा निर्धारित किया। जी7 देशों ने वर्ष 2050 तक कार्बन शुद्ध-शून्य उत्सर्जन तक पहुंचने और महिला शिक्षा को निधि देने के लक्ष्यों को दोगुना करने के साथ-साथ 2022 तक या तो सीधे या विश्व स्वास्थ्य संगठन के नेतृत्व वाली कोवैक्स सुविधा के माध्यम से गरीब देशों को एक अरब कोविड-19 वैक्सीन खुराक दान करने का संकल्प लिया। 

गौरतलब है कि जी7 कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, ब्रिटेन और अमेरिका को मिलाकर बना है। कॉर्नवाल में शिखर सम्मेलन में यूरोपीय संघ के नेताओं और दक्षिण कोरिया और दक्षिण अफ्रीका जैसे कई अतिथि देशों ने भी भाग लिया। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Pardeep

Recommended News