पोम्पियो का दावा- कोरोना वायरस का संबंध चीनी प्रयोगशालाओं से ही जुड़ा

2021-01-16T12:05:58.317

वाशिंगटन: अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा है कि चीन के वुहान शहर में पाए गए कोरोना वायरस का संबंध चीनी प्रयोगशालाओं से जुड़ा हो सकता है।   पोम्पियो ने कहा, ‘‘अमेरिकी सरकार के पास इस तथ्य पर भरोसे की पुख्ता वहज है क्योंकि वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी में कई शोधकर्ता 2019 के अंत में कोरोना वायरस का पता चलने से पहले ही बीमार पड़ गए थे और उनमें मौसमी बीमारी तथा कोरोना संक्रमण दोनों के लक्षण पाए गए थे।

 

कोविड-19 और आम मौसमी बीमारियों दोनों के अनुरूप लक्षणों के साथ, सर्दियों के मौसम में 2019 में महामारी के पाया गया पहला यहीं पाया गया था। उन्होंने कहा , ‘‘ इस तथ्य से WIV के वरिष्ठ शोधकर्ता शी झेंगली के उस दावे की विश्वसनीयता पर सवाल उठता है कि संस्थान के कर्मचारियों और छात्रों में सार्स अथवा सार्स-कोव-2 से संबंधित वायरस के लक्षण नहीं पाये गये।

 

उल्लेखनीय है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के विशेषज्ञों का अंतरराष्ट्रीय दल इस सप्ताह के शुरू में इस महामारी की मूल वजहों का अध्ययन करने के लिए वुहान पहुंचा है। इस बीच अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने कुछ आंकड़े साझा किये हैं और उम्मीद जतायी है कि डब्ल्यूएचओ चीन के अधिकारियों पर इस प्राणघातक विषाणु के बारे में अधिक जानकारी साझा करने के लिए दबाव डालेगा। 


Content Writer

Tanuja

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News