अमेरिका में कोरोना संक्रमण का स्तर दूसरी बार चरम पर, टेंशन में वैज्ञानिक

2020-07-31T17:16:42.91

न्यूयॉर्कः अमेरिका में कोरोना वायरस के कारण मरने वालों की संख्या जहां तेजी से बढ़ रही है, वहीं जन स्वास्थ्य विशेषज्ञ के पास यह अच्छी खबर है कि संक्रमण के मामलों में आया दूसरा उछाल अब स्थिर स्तर पर पहुंचता प्रतीत हो रहा है। जानकारी के अनुसार अमेरिका में कोरोना संक्रमण का स्तर दूसरी बार चरम पर जिससे कुछ वैज्ञानिक टेंशन में हैं और उनमें इसे लेकर किसी भी तरह का संतोष नहीं है। उन्होंने आगाह किया है यह रूझान चार बड़े शहरों - एरिजोना, कैलिफोर्निया, फ्लोरिडा और टेक्सास में ही प्रमुता से दिख रहा है जबकि करीब 30 राज्यों में मामले बढ़ रहे हैं।

 

वहीं प्रकोप का केंद्र ‘सन बेल्ट' (अमेरिका का दक्षिणी हिस्सा) से मध्यपश्चिम की तरफ सरकता प्रतीत हो रहा है। कुछ विशेषज्ञों को इस बात की चिंता है कि क्या मामलों में दिख रहा सुधार टिका रह पाएगा। यह भी साफ नहीं है कि मौत के मामले कब घटेंगे। कोविड-19 से होने वाली मौत संक्रमण के कर्व के ठीक साथ-साथ घटती- बढ़ती नहीं हैं और इसका कारण यह है कि वायरस से बीमार पड़ने और मरने में हफ्तों लग सकते हैं। सरकार के शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ एंथनी फाउची ने कहा, “भविष्य क्या होगा? मेरे हिसाब से इसका अनुमान लगाना बहुत कठिन है।”

 

वायरस के कारण अमेरिका में अब तक 1,50,000 लोगों की मौत हो चुकी है जो विश्व में सबसे ज्यादा है। पिछले हफ्ते से, अमेरिका में कोविड-19 से हर दिन औसतन 25 प्रतिशत मौत के मामले बढ़े हैं, 843 से 1,057। फ्लोरिडा में बृहस्पतिवार को 253 लोगों की मौत हुई जबकि टेक्सास में 322 और कैलिफोर्निया में 391 लोगों ने इस बीमारी के कारण दम तोड़ दिया। देश भर में संक्रमण के मामले 44 लाख के पार हैं जो जांच की सीमा तथा कुछ लोगों में लक्षण न दिखने के कारण और ज्यादा हो सकते हैं। 


Content Writer

Tanuja

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static