चीन ने पाकिस्तान को भेजे घटिया सैन्य हथियार, दोस्ताना रिश्तों में आ गई दरार

10/16/2021 12:32:56 PM

 इंटरनेशनल डेस्कः  चीन और पाकिस्तान के बीच दोस्ताना रिश्तों में इन दिनों  तनाव देखा जा रहा है। मामला दोनों देशों की सेना को लेकर उलझा हुआ है। चीन ने ऐसे ही अपने कुछ आधुनिक सैन्य हथियार पाकिस्तानी आर्मी को सप्लाई किए थे, लेकिन बेहद ही खराब और घटिया सर्विसिंग के कारण उसके रखरखाव में पाकिस्तानी आर्मी को परेशानी हो रही है। पाकिस्तानी आर्मी को यह नागवार गुजर रहा है और अब इस कारण अब दोनों देशों की दोस्ती में भी दरार आ रही है।  चीन ने पाक  के रक्षा बलों को आधुनिक हथियारों की एक  खेप भेजी जो कि बेहद ही खराब व घटिया निकली। 

 

अल मायादीन के एक ब्लॉग में निसार अहमद ने  बताया है कि पाकिस्तान इस समय अपनी सैन्य क्षमताओं को बढ़ावा दे रहा है। इसी के तहत उसने चीन से मानव रहित लड़ाके हवाई वाहनों की खरीद की थी। चीन के चेंगदू एयरक्राफ्ट इंडस्ट्री ने पाकिस्तान को तीन सशस्त्र ड्रोन जनवरी 2021 में दिए थे, जिन्हें पाकिस्तानी वायु सेना में शामिल किया गया था, लेकिन कुछ ही दिनों बाद इन ड्रोन में खराबी आ गई और अंतत: इन्हें वायु सेना के बेड़े से बाहर कर दिया गया और इनका इस्तेमाल बंद हो गया। रिपोर्ट में ड्रोन की खरीद को पाकिस्तानी आर्मी का एक बुरा सपना बताया गया है।

 

अल मायादीन में  अहमद ने लिखा है कि मानव रहित लड़ाकू हवाई वाहनों (यूसीएवी) की खरीद के बाद रिश्तों में तनाव आ गया। बताया गया कि ये समय ऐसा है जब पाकिस्तान अपने सैन्य उपकरणों को बढ़ावा दे रहा है। जानकारी मिली है कि चीनी निर्मित विंग लूंग II मानवरहित हवाई प्रणाली (यूसीएवी) को शामिल किए जाने के कुछ दिनों के भीतर ही कुछ खराबी के कारण उनका इस्तेमाल बंद हो गया। उधर, CATIC अब तक ग्राउंडेड ड्रोन की मुरम्मत और रखरखाव के लिए तमाम संपर्कों के आगे बिलकुल भी सहयोग करता नहीं दिखा। फर्म द्वारा आपूर्ति किए गए पुर्जे घटिया थे और अधिकतर उपयोग के लिए अनुपयुक्त थे।

 

ग्राउंडेड हवाई वाहनों को जल्द से जल्द चालू करने के लिए पाकिस्तान भेजे गए इंजीनियरों को अक्षम बता दिया गया। अहमद ने लिखा, पाकिस्तानी अधिकारियों ने अब चीनी फर्म को गंभीर संकट से निपटने के लिए पेशेवरों का एक बेहतर प्रशिक्षित समूह भेजने के लिए कहा है। गड़बड़ी ईओ/आईआर से नाइट्रोजन के रिसाव की थी। जरूरत को देखते हुए, पाकिस्तान वायु सेना के अधिकारी ईओ/आईआर पाड्स को तत्काल बदलना चाहते थे। चीनी फर्म को तत्काल याचिका का जवाब देना बाकी है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tanuja

Related News

Recommended News