चीन ने 70वें राष्‍ट्रीय दिवस पर किया शक्ति प्रदर्शन, पहली बार दिखाई ये खतरनाक मिसाइल (Pics)

10/1/2019 10:40:14 AM

बीजिंगः चीन ने आज अपना 70वें राष्‍ट्रीय दिवस पर दिवस मनाया। इस मौके पर बढ़ती राजनीतिक और आर्थिक चुनौतियों के बीच भव्य परेड निकाली गई जिसमें उसने परमाणु और हाइपरसोनिक मिसाइलों समेत अपने सबसे आधुनिक हथियारों का प्रदर्शन किया। इसे चीन का शक्ति प्रदर्शन माना जा रहा है। इस दौरान सड़कों पर 15 हजार जवानों के अलावा कई अत्‍याधुनिक और घातक हथियारों का भी प्रदर्शन किया गया। इनमें Dongfeng-41 मिसाइल भी शामिल है जो महज 20 मिनट में अमेरिका तक मार करने में सक्षम है। इसके अलावा भी कई ऐसे हथियार इस परेड में शामिल  हैं जो इससे पहले कभी प्रदर्शित नहीं किए गए।PunjabKesari

अमेरिकी मिसाइल शील्‍ड को भी भेदने में सक्षम ये मिसाइल

Dongfeng-17 एक शॉर्ट मीडियम रेंज मिसाइल है जो हाइपरसोनिक ग्‍लाइड व्‍हीकल लॉन्‍च कर सकती है। इसकी एक बड़ी खासियत ये है कि यह आवाज की गति से भी तेज रफ्तार में अपनी दूरी तय कर सकती है। इतना ही नहीं यह अमेरिकी मिसाइल शील्‍ड को भी भेदने में सक्षम है। उड़ान भरने के दौरान यह मिसाइल टार्गेट के हिसाब से अपनी ऊंचाई को कम या ज्‍यादा कर सकती है। इसके अलावा यह मिसाइल परमाणु हथियार के अलावा कंवेंशनल वारहेड भी ले जाने में सक्षम है।

PunjabKesari

ये मिसाइल कुछ मिनट में कर सकती है दुनिया के किसी भी कोने में हमला
2017 के अंत में इसका पहली बार टेस्‍ट किया गया था। इस दौरान इस मिसाइल ने धरती के वायुमंडल से बाहर जाने के बाद दोबारा सफलतापूर्वक एंट्री की थी। इस मिसाइल का पूरा नाम Dongfeng-41 है। नेक्‍स्‍ट जनरेशन वाली ये आईसीबीएम मिसाइल पहली बार इस परेड का हिस्‍सा बन रही है। Dongfeng का अर्थ होता है 'East wind'। यह मिसाइल 10 मैक की गति से उड़ान भर सकती है। इस मिसाइल की रेंज 7500 मील है। यह मिसाइल दुनिया के किसी भी कोने में महज कुछ ही मिनट में हमला करने में पूरी तरह से सक्षम है। इसमें अमेरिका भी शामिल है।

PunjabKesari

Dongfeng-41 की सबसे बड़ी खासियत
Dongfeng-41 मिसाइल की सबसे बड़ी खासियत है कि ये एक ही समय में दस अलग-अलग टार्गेट हिट कर सकेगी। यह मिसाइल न्‍यूक्लियर वारहेड ले जा सकती है। चीन के सैन्‍य विशेषज्ञ इसको अमेरिका और रूस द्वारा बनाई गई 7वीं जनरेशन की न्‍यूक्लियर मिसाइल के बराबर आंकते हैं। यह मिसाइल दुश्‍मन के राडार से बचने में सक्षम है। 2018 में सेना में शामिल करने से पहले इसके आठ सफल टेस्‍ट किए गए थे। इससे चीन को अलग-अलग जगहों पर मिसाइलों की तैनाती से भी छुटकारा मिल गया है।

PunjabKesari

राष्ट्रपति शी ने माओ को दी श्रद्धांजलि
वर्षगांठ के आधिकारिक समारोह की शुरुआत एक दिन पहले सोमवार को हो गई थी जब चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना (सीपीसी) के संस्थापक माओ जेडोंग की संरक्षित रखी गई पार्थिव देह को श्रद्धांजलि दी। शी और अन्य शीर्ष चीनी अधिकारी यहां तियाननमेन चौक में स्थित माओ की समाधि पर गए और दिवंगत नेता की प्रतिमा के आगे तीन बार सिर झुकाया ।  शी ने छह साल पहले माओ की 120वीं जयंती पर ‘ग्रेट हेल्म्जमैन’ प्रतिमा के आगे सिर झुकाया था। शी के साथ सेना के शीर्ष अधिकारी मौजूद थे।

PunjabKesari

हांगकांग में मातम दिवस करार
उधर हांगकांग में लोकतंत्र समर्थकों ने चीन के राष्ट्रीय दिवस को मातम दिवस करार दिया है। प्रदर्शनकारी  चीनी राष्ट्रीय दिवस पर एक बड़ी रैली की तैयारी कर रहे थे। हालांकि, हांगकांग प्रशासन ने शनिवार और रविवार को प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसक झड़पों को देखते हुए प्रदर्शनकारियों को रैली की इजाजत नहीं दी है।

PunjabKesari


Tanuja

Related News