राइट-टू-डाईः डाक्टरों ने Brain-damaged मरीज का लाइफ स्पोर्ट हटाया (Pics)

7/11/2019 2:08:07 PM

पेरिसः एक फ्रांसीसी व्यक्ति को आज राइट-टू-डाई कानून के तहत अस्पताल में मौत दे दी गई। मृतक के परिवार ने बताया कि काफी लंबे समय से ब्रेन डेमेज्ड रोगी विंसेट जिंदगी और मौत से जूझ रहा था। उन्होंने बताया कि गुरुवार को डॉक्टरों द्वारा लाइफ स्पोर्ट हटाने के बाद मरीज का निधन हो गया। पारिवारिक सदस्यों में मृतक के भतीजे फ्रेंकोइस लैम्बर्ट ने बताया कि "उनके चाचा की मृत्यु आज सुबह 8:24 बजे (0624 GMT) हुई,"।

PunjabKesari

लैंबर्ट ने बताया कि उनके चाचा विसेट 2008 में एक घातक कार दुर्घटना के शिकार हो गए थे जिसमें उनके मस्तिष्क की गंभीर क्षति पहुंची थी। हादसे के बाद लंबे इलाज के बावजूद उनकी हालात में कुछ सुधार नहीं हो रहा था और डॉक्टरों ने भी हालत में किसी खास परिवर्तन की आशा से इंकार कर दिया था। वेंटीलेटर पर जिंदा वेंसिट की हालत में कोई सुधार न होने पर राइट-टू-डाई कानून के तहत रिम्स के उत्तरी शहर के एक अस्पताल में डॉक्टरों ने 2 जुलाई को लाइफ स्पोर्ट को हटाना शुरू कर दिया था।

PunjabKesari

बता दें कि लंबी कानूनी लड़ाई के बाद फ्रांस में  कुछ खास शर्तों पर राइट-टू-डाई कानून को मंजूरी दी गई है। इस मामले ने फ्रांस के राइट-टू-डाई कानूनों पर एक बहस को फिर से शुरू कर दिया, जो तथाकथित "निष्क्रिय" इच्छामृत्यु की अनुमति देता है गंभीर रूप से बीमार या घायल रोगियों के लिए जिन्हें कृत्रिम रूप से पुनर्प्राप्ति के अवसर के साथ जीवित रखा जा रहा है।

PunjabKesari
मृतक के पिता ने स्वीकार किया था कि उनके बेटे की मृत्यु अब "निश्चित" थी। उन्होंने अपने वकीलों के माध्यम से एक बयान में कहा, "हमारे पास और कोई चारा ही नहीं है। विन्सेंट मर रहा है," उन्होंने कहा कि उनकी स्थिति अब "चिकित्सकीय रूप से अपरिवर्तनीय" है। मई की शुरुआत में, संयुक्त राष्ट्र की विकलांग अधिकारों की समिति ने भी फ्रांस को लैम्बर्ट को जीवित रखने के लिए कहा, लेकिन सरकार ने कहा कि वह कानूनी रूप से उसके अनुरोध का पालन करने के लिए बाध्य नहीं है।


Tanuja