नेपाल में प्रधानमंत्री बनने की जंग हुई तेज, आधा दर्जन नेता PM की रेस में शामिल

punjabkesari.in Tuesday, Nov 29, 2022 - 08:28 PM (IST)

नेशनल डेस्कः नेपाल के संसदीय चुनाव में सबसे बड़े दल के रूप में उभरी नेपाली कांग्रेस के करीब आधा दर्जन नेताओं ने देश का अगला प्रधानमंत्री बनने की इच्छा प्रकट की है। पार्टी में युवा पीढ़ी को नेतृत्व हस्तांतरित करने का दबाव बढ़ रहा है। सत्तारूढ़ पांच दलीय गठबंधन के नेताओं ने नयी सरकार बनाने के प्रयास तेज कर दिये हैं और प्रतिनिधि सभा तथा सात प्रांतीय विधानसभाओं के लिए 20 नवंबर को हुए चुनाव के अंतिम परिणाम घोषित होने में कुछ दिन और लग सकते हैं।

‘माय रिपब्लिका' अखबार के अनुसार नेपाली कांग्रेस प्रत्यक्ष मतदान प्रणाली के तहत अब तक 53 सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी है। पार्टी के करीब आधा दर्जन नेताओं ने अगला प्रधानमंत्री बनने की इच्छा प्रकट की है। अब तक 158 सीटों के परिणाम घोषित किये जा चुके हैं। नेपाली कांग्रेस नीत सत्तारूढ़ गठबंधन स्पष्ट बहुमत की ओर बढ़ रहा है और नई सरकार बनाने के करीब है। मतगणना लगभग पूरी हो गई है और छह सीटों के परिणाम अभी घोषित नहीं हुए हैं। किसी भी दल को 275 सदस्यीय सदन में बहुमत के लिए कम से कम 138 सीटों की जरूरत होगी।

प्रधानमंत्री और नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष शेर बहादुर देउबा ने माओवादी सेंटर के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड' और यूनिफाइड सोशलिस्ट पार्टी के प्रमुख माधव कुमार नेपाल के साथ सरकार गठन के विषय पर चर्चा की। प्रचंड और नेपाल के साथ चर्चा के बाद देउबा मौजूदा गठबंधन को बनाये रखने के लिए तथा अन्य दलों को शामिल करके आगे बढ़ने के लिए सहमत हुए।

सूत्रों ने दावा किया कि तीनों दलों के शीर्ष नेताओं ने कहा कि हाल में संपन्न चुनाव में चुनावी समन्वय आंशिक रूप से सफल रहा। उन्होंने यह दावा भी किया कि नेताओं के बीच इस बात को लेकर आम-सहमति है कि चुनाव परिणाम के बाद वे केंद्र तथा प्रांतीय स्तर पर सरकार गठन के विषय पर चर्चा करेंगे। मौजूदा गठबंधन के जारी रहने के साथ 76 वर्षीय देउबा के दोबारा प्रधानमंत्री बनने की संभावना प्रबल मानी जा रही है। उन्हें नेपाली कांग्रेस संसदीय दल का नेता चुना जा सकता है।

हालांकि इसी पार्टी के रामचंद्र पौडेल (78), प्रकाश मान सिंह (66), शशांक कोइराला (64) तथा 46 साल के पार्टी महासचिव गगन कुमार थापा छठी बार प्रधानमंत्री बनने की देउबा की कोशिश को चुनौती दे सकते हैं। थापा ने सार्वजनिक रूप से घोषणा की है कि वह चुनाव परिणाम की अंतिम घोषणा के बाद संसदीय दल के नेता के चुनाव में किस्मत आजमाएंगे। पौडेल और सिंह ने माधव कुमार नेपाल तथा यूएमएल के अध्यक्ष के पी ओली से मुलाकात कर नयी सरकार के गठन समेत अन्य विषयों पर बातचीत की। पौडेल कहते आ रहे हैं कि देश के लिए उनका नेतृत्व जरूरी है।

सूत्रों ने दावा किया कि यूनिफाइड सोशलिस्ट के अध्यक्ष माधव कुमार नेपाल के साथ सोमवार को एक बैठक में पौडेल ने नयी सरकार की अगुवाई के लिए उनका समर्थन मांगा। उन्होंने प्रधानमंत्री देउबा तथा नेपाली कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष बिमलेंद्र निधि से भी बात की थी। सिंह खुद को अगले प्रधानमंत्री के रूप में पेश करते हुए कह रहे हैं कि वह पार्टी में जमीनी स्तर से काम करते हुए नंबर दो तक पहुंचे हैं।

देउबा का विश्वास जीतने के बाद नेतृत्व संभालने के पक्षधर सिंह ने रविवार को यूएमएल अध्यक्ष ओली से मुलाकात की थी। पूर्व महासचिव शशांक कोइराला ने दावा किया है कि वह अगले प्रधानमंत्री बनेंगे। इसी तरह नेपाली कांग्रेस के उपाध्यक्ष पूर्ण बहादुर खड़का ने सार्वजनिक रूप से प्रधानमंत्री पद की दौड़ में होने की बात नहीं की है, लेकिन अपने करीबी लोगों को कह रहे हैं कि देउबा के बाद वह पार्टी और सरकार का नेतृत्व करेंगे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Yaspal

Related News

Recommended News