अमेरिका के निशाने पर चीनी मोबाइल कंपनी Huawei, खुफिया जानकारी चुराने का लगाया आरोप

2020-02-14T13:43:34.083

बिजनेस डेस्क: अमेरिका ने चीन की दूरसंचार कंपनी हुआवेई तथा उसकी Subsidiaries के खिलाफ नये आरोप जोड़े हैं। अभियोजक ने इसकी जानकारी दी। अमेरिका के विधि मंत्रालय ने हुआवेई के ऊपर अमेरिकी प्रतिस्पर्धियों के कारोबार की गोपनीय जानकारियां चुराने का षडयंत्र रचने का आरोप लगाया है। 

PunjabKesari
नये आरोपों में कहा गया कि कंपनी ने ईरान को निगरानी करने वाले उपकरण मुहैया कराये हैं, जिन उपकरणों से ईरान ने 2009 में हुए सरकार विरोधी प्रदर्शनों की निगरानी की। इसके अलावा प्रतिबंधों के बावजूद कंपनी ने उत्तर कोरिया के साथ कारोबार किया। हालांकि हुआवेई ने एक बयान जारी कर इन आरोपों का खंडन किया। कंपनी पहले से ही ईरान पर लगे प्रतिबंधों के संबंध में बैंकों से झूठ बोलने तथा जानकारियां छुपाने के आरोपों में अमेरिका में कानूनी प्रक्रिया से गुजर रही है। 

PunjabKesari
अभियोजक ने नये आरोपों में कहा कि हुआवेई ने प्रतिस्पर्धी कंपनियों की व्यापार संबंधी गोपनीय जानकारियां चुराने के लिये उन कंपनियों के लोगों को नौकरी पर रखा। कंपनी ने चुराकर महत्वपूर्ण जानकारियां लाने वाले कर्मचारियों को बोनस व अन्य प्रोत्साहन दिये। कंपनी ने सूचनाएं चुराने के लिये प्रोफेसरों, शोध संस्थानों आदि की भी ओट ली। अभियोजक के अनुसार, चुरायी गयी जानकारियों में एंटीना व रोबोट परीक्षण प्रौद्योगिकी और इंटरनेट राउटर के उपभोक्ता मैनुएल शामिल हैं। मंत्रालय ने कहा कि इन चोरियों का एक लक्ष्य शोध एवं विकास कार्यों पर खर्च करने से बचना रहा है। आरोपों में कहा गया है कि हुआवेई ने छह-आठ कंपनियों से जानकारियां चुरायी है। 

PunjabKesari


vasudha

Related News