मुंद्रा बंदरगाह से हेरोइन जब्ती: अभी तक चार अफगान नागरिकों सहित आठ गिरफ्तार

09/23/2021 10:41:31 AM

अहमदाबाद, 22 सितंबर (भाषा) राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) ने गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह से 2,988 किलोग्राम हेरोइन की जब्ती के सिलसिले में अब तक पांच विदेशी नागरिकों सहित आठ लोगों को गिरफ्तार किया है। यह जानकारी यहां बुधवार को जारी एक विज्ञप्ति में दी गई।

गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों में एक भारतीय दंपति भी शामिल है, जो कथित तौर पर वह कंपनी चलाते थे जिसमें इसे सेमी-प्रॉसेस्ड टैल्क पत्थर बताते हुए आयात किया था।
जब्त की गई हेरोइन की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 21,000 करोड़ रुपये आंकी गई है। एक किलोग्राम हेरोइन 5 से 7 करोड़ रुपये में बिकती है।

भारत सरकार के पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी) द्वारा जारी बयान में कहा गया है, ‘‘चार अफगान नागरिकों, एक उज़्बेक और तीन भारतीयों सहित कुल आठ लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार किए गए भारतीय नागरिकों में आयात निर्यात कोड (आईईसी) का धारक शामिल है जिसका उपयोग माल आयात करने के लिए किया गया था। उसे चेन्नई से गिरफ्तार किया गया है। आगे की जांच जारी है।’’
इसमें कहा गया है कि कुछ दिनों पहले कच्छ जिले के मुंद्रा बंदरगाह पर पहुंचे दो कंटेनरों से हेरोइन की आश्चर्यजनक मात्रा की जब्ती के बाद, डीआरआई ने देशभर में छापेमारी की और दिल्ली में एक गोदाम से 16.1 किलोग्राम हेरोइन जब्त की।
विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस मामले में हेरोइन की कुल बरामदगी 3,004 किलोग्राम हो गई है।

इसमें कहा गया है कि एजेंसी ने "नोएडा में एक आवासीय परिसर’’ से 10.2 किलोग्राम संदिग्ध कोकीन और 11 किलोग्राम अन्य पदार्थ भी बरामद किया जिसके हेरोइन होने का संदेह है।

गत 13 सितंबर को, डीआरआई ने दो कंटेनरों को कब्जे में लिया था, जो ईरान के बंदर अब्बास बंदरगाह के रास्ते अफगानिस्तान के कंधार से मुंद्रा बंदरगाह पहुंचे थे। कंटेनरों के साथ दस्तावेजों में दावा किया गया था कि उनमें "सेमी-प्रॉसेस्ड टैल्क पत्थर" है।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि 17 और 19 सितंबर को यह पता चला कि दो कंटेनरों में वास्तव में हेरोइन थी जिसे "बड़े बोरों" की "निचली परतों" में छुपाया गया था, जिसके ऊपर टैल्क पत्थर था।
डीआरआई ने तब चेन्नई से - एम सुधाकर और उसकी पत्नी दुर्गा वैशाली को गिरफ्तार किया, जो कथित तौर पर विजयवाड़ा-पंजीकृत मेसर्स आशी ट्रेडिंग कंपनी चलाते थे, जिसने ''टैल्क स्टोन्स'' की खेप का आयात किया था।

भुज में एनडीपीएस कानून के तहत मामलों के लिए एक विशेष अदालत ने सोमवार को दंपति को डीआरआई की 10 दिन की हिरासत में भेज दिया।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News