कोविड से मुकाबला करने के लिए गुजरात के सभी क्षेत्र मिलकर काम कर रहे : रूपाणी ने प्रधानमंत्री से कहा

2021-04-23T19:31:47.65

अहमदाबाद, 23 अप्रैल (भाषा) गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कहा कि राज्य टीकाकरण और विभिन्न मानदंडों के सख्त पालन के जरिए कोविड​​-19 महामारी से निपटेगा तथा स्वास्थ्य के बुनियादी ढांचे में सुधार पर जोर दिया जाएगा।

रुपाणी कोविड से सर्वाधिक प्रभावित 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री की डिजिटल बैठक में बोल रहे थे।

एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, मुख्यमंत्री ने कहा कि गुजरात में सरकारी तंत्र, निजी क्षेत्र और सामाजिक संगठन लोगों की मदद के लिए एकजुट होकर काम कर रहे हैं।

रूपानी ने प्रधानमंत्री को बताया कि कोरोना मरीजों के लिए राज्य में 90,000 से अधिक बेड हैं जिनमें 11,500 आईसीयू बेड और 51,000 ऑक्सीजन बेड शामिल हैं। उन्होंने कहा कि दैनिक जांच की संख्या बढ़ाकर 1.75 लाख तक की गयी है जिनमें 70,000 आरटी-पीसीआर जांच हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सामाजिक और धार्मिक संगठन मदद के लिए आगे आए हैं। उन्होंने मोरबी का उदाहरण दिया जहां हल्के लक्षणों वाले रोगियों के लिए 630 बेड वाले पांच कोविड ​​देखभाल केंद्र ऐसे समूहों द्वारा स्थापित किए गए हैं।

उन्होंने बैठक में कहा कि केंद्र के निर्देशानुसार गुजरात ने सूक्ष्म निषेध क्षेत्रों पर जोर दिया है और अभी राज्य में 30,000 ऐसे क्षेत्र हैं जिनके लिए 20,000 मेडिकल टीमों को तैनात किया गया है।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि चिकित्सीय ऑक्सीजन की मांग में काफी वृद्धि हुई है और राज्य सरकार वितरण व्यवस्था को दुरूस्त करके इसे पूरा करने की कोशिश कर रही है।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

PTI News Agency

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static