JNU 2019: सहायक DSW को बनाया बंधक

11/9/2019 10:46:54 AM

नई दिल्ली: जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में नए हॉस्टल नियमों के खिलाफ छात्रों का पिछले 12 दिनों से जारी आंदोलन शुक्रवार को उग्र हो गया और सहायक डीन ऑफ (डीएसडब्ल्यू) प्रो. वंदना गुप्ता को कक्षा में बंधक बना लिया। शुक्रवार को हड़ताल की घोषणा की गई थी। जानकारी के अनुसार सुबह 10:30 बजे से कक्षा में बंद सहायक डीएसडब्ल्यू खबर लिखे जाने तक कक्षा से बाहर नहीं निकल सकी थीं और कक्षा के बाहर छात्रों का प्रदर्शन जारी था। मालूम हो कि छात्रों के प्रदर्शन के चलते 28 अक्तूबर को बैठक में छात्रों की नारेबाजी की वजह से डीएसडब्ल्यू भी बीमार पड़ गए थे, तब से उनकी गैर मौजूदगी में सहायक डीएसडब्ल्यू प्रो वंदना गुप्ता ने यह जिम्मेदारी संभाल रही है। 

जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्ट्डीज की क्लासरूम में आम दिनों की तरह कक्षाएं लेने गई थीं। जैसे ही वह कक्षा में पहुंची तो कुछ छात्र अचानक कक्षा के अंदर आ गए और दरवाजा अंदर से बंद कर दिया। जबकि कुछ छात्र बाहर भी धरने पर बैठ गए। फोन पर बातचीत में प्रो वंदन गुप्ता ने बताया कि छात्र अपने साथ उनका टाइप किया हुआ इस्तीफा ले कर आए थे और इस पर हस्ताक्षर करने को कहा, लेकिन उन्होंने इस्तीफा नहीं देने की बात कही। इस पर छात्रों ने उन्हें बंधक बना लिया। उन्होंने कहा कि सुबह से मुझे पानी तो मिला, लेकिन खाना नहीं मिला है।

अकादमिक गतिविधियां सुचारू करने की अपील 
विवि प्रशासन के साथ ही सभी स्कूलों के डीन व अध्यक्षों ने शुक्रवार को एकाबार फिर हड़ताल खत्म करने की अपील की है। जारी अपील में विवि प्रशासन ने कहा है कि छात्रों की हड़ताल गंभीर ङ्क्षचता का विषय बन गई है। शांतिपूर्ण व लोकतांत्रिक प्रदर्शन का हमेशा से स्वागत है, लेकिन हालिया उपद्रव देशभर से पढऩे आए छात्रों को प्रभावित कर रहा है। कई छात्र अपना असाइनटमेंट पूरा कर चुके हैं और अपनी कक्षाएं नहीं छोडऩा चाहते हैं। ऐसे में अपील है कि आंदोलनकारी छात्र हड़ताल को बंद कर विवि की अकादमिक गतिविधियां सुचारू करें।


Author

Riya bawa

Related News