कर्नाटक में BSc एडमिशन के लिए CET के अंकों को मानदंड नहीं बनाया जाएगा: उप मुख्यमंत्री

2021-06-16T13:39:44.293

एजुकेशन डेस्क- कर्नाटक के उप मुख्यमंत्री सी एन अश्वत्थ नारायण ने मंगलवार को कहा कि बी.एससी. पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए समान प्रवेश परीक्षा (सीईटी) के अंकों को मानदंड बनाने का विचार वापस ले लिया गया है।

नारायण के कार्यालय ने एक विज्ञप्ति में कहा कि उप मुख्यमंत्री और उच्च शिक्षा मंत्री नारायण ने विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के साथ बैठक की और स्पष्ट किया कि बी.एससी. में प्रवेश के लिए सीईटी के अंकों को मानदंड बनाने का विचार वापस ले लिया गया है।

पहले कहा गया था कि 12वीं कक्षा की परीक्षाएं निरस्त होने के मद्देनजर उच्च शिक्षा विभाग सीईटी के अंकों को बी.एससी. पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आधार बनाने पर विचार कर रहा है। सरकार ने हाल ही में कोविड-19 के मद्देनजर इस साल द्वितीय पीयूसी (12वीं कक्षा) की परीक्षा को रद्द करने का निर्णय लिया था।

KCET 2021: रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू, 28-29 अगस्त को एग्जाम
कर्नाटक कॉमन एंट्रेंस टेस्ट (KCET) 2021 के लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस आज से शुरू हो गए हैं। राज्य के इंस्टीट्यूट्स में विभिन्न अंडर ग्रेजुएट प्रोफेशनल कोर्सेस में एडमिशन लेने के इच्छुक छात्र आधिकारिक पोर्टल kea.kar.nic.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। कर्नाटक CET परीक्षा राज्य में 500 एग्जाम सेंटर्स पर आयोजित की जाएगी। 

28-29 अगस्त को आयोजित होगी परीक्षा
इंजीनियरिंग, प्रौद्योगिकी, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, बीफार्मा, कृषि विज्ञान और पशु चिकित्सा पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए KCET 2021 का आयोजन, 28-29 अगस्त को किया जाएगा। KCET 2021 के लिए रजिस्ट्रेशन कराने की लास्ट डेट 10 जुलाई है। वहीं ऑनलाइन मोड के माध्यम से आवेदन शुल्क का भुगतान करने की अंतिम तिथि 13 जुलाई है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Editor

rajesh kumar

Recommended News