दिल्ली में 4,778 वकील बार एसो. की परीक्षा में फेल, प्रैक्टिस पर रोक

2019-09-12T12:36:49.88

नई दिल्ली: दिल्ली के 4,778 वकील बार एसोसिएशन की परीक्षा में फेल हो गए हैं। बार कौंसिल ने सुप्रीम कोर्ट से लेकर जिला अदालतों और न्यायाधिकरणों को पत्र लिखकर कहा कि इन वकीलों को अदालतों में पेश न होने दें। कौंसिल ने इन वकीलों के नाम अदालतों को भेजे हैं। 

यह परीक्षा ओपन बुक पद्धति के आधार पर होती है, जिसमें कानून की किताब देखकर प्रश्नों के उत्तर दिए जा सकते हैं। बार कौंसिल दिल्ली ने पत्र में कहा कि ऑल इंडिया बार एग्जाम कराने वाली बार कौंसिल ऑफ इंडिया ने 4,778 वकीलों के परीक्षा में विफल होने की जानकारी दी है। ये वकील प्रोविजनल रूप से दिल्ली बार कौंसिल में पंजीकृत हैं। 

बार एग्जाम पास करने के बाद उन्हें स्थायी पंजीकरण नंबर दिया जाएगा। बार कौंसिल के सचिव विष्णु शर्मा ने कहा कि परीक्षा पास नहीं करने वालों को वकील नहीं माना जाएगा। बेसिक समझ की परख हेतु होती है परीक्षा परीक्षा के माध्यम से बेसिक कानूनी समझ की परख की जाती है। वकील किताबों की मदद ले सकते हैं, फिर भी तमाम वकील फेल हो गए। 2010 में शुरू की गई परीक्षा का मकसद था कि पेशे में गंभीर किस्म के लोग आएं।

बार एग्जाम साल में दो बार (जून और दिसम्बर) होता है। इसके लिए कोई सीमा नहीं है। पास होने तक कितनी ही बार परीक्षा दी जा सकती है। 2010 के बाद एलएल.बी करने वालों को यह परीक्षा देनी होती है।
 


Author

Riya bawa

Related News