See More

विनायक चतुर्थी: आज तिजोरी में रखी गई ये चीज़, धन को चुंबक की तरह खिंचेगी

2020-05-26T06:53:53.83

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ

Vinayak chaturthi: आज 26 मई, 2020 ज्येष्ठ महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि है। हिन्दू पंचांग के अनुसार इस दिन मासिक विनायक चतुर्थी मनाए जाने का विधान है। गणेश जी की पूजा करने के बाद अपने घर में आक यानि श्वेतार्क का पौधा ले आएं। आक के पौधे को गणपति का पौधा माना जाता है और यह दूध वाला होता है। वैसे तो वास्तु के हिसाब से दूध वाले पौधे अशुभ होते हैं परंतु सफेद आक इस मामले में अपवाद है।

PunjabKesari Vinayak chaturthi
श्वेतार्क से गणपति की प्रतिमा बनाकर घर में स्थापित करें। नित्य एक दूर्वा अर्पण कर श्रद्धापूर्वक गणपति जी का ध्यान किया करें, प्रत्येक कार्य में सफलता मिलेगी तथा सब प्रकार के विघ्नों से रक्षा होगी।

सफेद आक की जड़, गणेश चतुर्थी से अनन्त चतुर्दशी तक नित्य ‘ऊँ गं गणपतये नम’ मंत्र से पूजा करें, सुख, समृद्धि और धन की प्राप्ति होगी तथा मनोवांछित कामनाएं पूर्ण होंगी।

श्वेतार्क पर नित्य ‘ऊँ नमो विघ्नहराय गं गणपतये नम:’ मंत्र जप करते हुए मिश्रित जल से अर्घ्य दिया करें, दुष्ट ग्रह शांत होंगे।

PunjabKesari Vinayak chaturthi
सिंदूूर मिश्रित चावल के आसन पर श्वेतार्क गणपति जी को विराजमान कर लें। हल्दी, चन्दन, धूप, दीप, नैवेद्य से देव की पूजा करें। नित्य गणपति स्तोत्र का पाठ किया करें, धन-धान्य का अभाव नहीं रहेगा।

बच्चे को बार-बार नजर लगती हो तो सफेद आक की जड़ को गणपति जी के मंत्र ‘गं गणपतये नम:’ या ‘श्री विघ्नेश्वराय नम:’ से 108 बार जाप करते हुए अभिमंत्रित करके बच्चे को गले में पहनाएं।

PunjabKesari Vinayak chaturthi

घर की बरकत रुक गई हो और सारे काम बिगड़ रहें हो तो सफेद आक की जड़ को गणेश जी के सामने रखें। अब इसे पूजा के बाद अपनी तिजोरी में रख दें। इससे धन संबंधित समस्याएं दूर हो जाएंगी।

श्वेतार्क के नीचे बैठकर प्रतिदिन साधना करें, जल्दी फल मिलेगा। वृक्ष के नीचे बैठकर प्रतिदिन ‘ऊँ गं गणपतये नम:’ की एक माला जप करें, हर क्षेत्र में लाभ मिलेगा।

PunjabKesari Vinayak chaturthi


Niyati Bhandari

Related News