इस आत्मविश्वास से आगे बढ़ने पर मिलेगा, आपको भी आपका मनचाहा प्यार

2020-01-10T14:10:18.37

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
मशहूर जर्मन संगीतज्ञ मैंडलसन के दादाजी मॉजेज मैंडलसन बड़े दार्शनिक थे लेकिन उनका व्यक्तित्व आकर्षक नहीं था। एक तो उनका कद छोटा था, दूसरे उनके शरीर पर एक अजीब-सा कूबड़ था। इस वजह से वह देखने में सुंदर नहीं लगते थे। एक बार वह हैमबर्ग के एक व्यापारी से मिलने गए। मॉजेज ने वहां एक बेहद सुंदर लड़की फ्रमजी को देखा। वह उस व्यापारी की बेटी थी। मॉजेज को पहली नजर में ही वह भा गई। फ्रमजी को भी मॉजेज अच्छे लगे। वह सोचने लगी कि मॉजेज अगर सुंदर होते, उनका व्यक्तित्व थोड़ा भी ठीक-ठाक होता तो वह खुद उनके सामने शादी का प्रस्ताव रख देती। लेकिन उनका अजीब-सा हुलिया था, सो फ्रमजी ने इस ख्याल को हवा में उड़ा दिया।
Follow us on Twitter
PunjabKesari
मगर मॉजेज अपने विचारों पर जमे रहे। उन्होंने सोच लिया था कि अपनी तरफ से कोशिश वह जरूर करेंगे। जब चलने का वक्त आया तो वह फ्रमजी के कमरे तक पहुंचे। उन्हें पता था कि यह उनके लिए आखिरी मौका है फ्रमजी का दिल जीतने का, पर उनकी तरफ देखने की बजाय उस लड़की ने नजरें फेर लीं। फिर भी मॉजेज आगे बढ़े, उससे पूछा, ''क्या आप मानती हैं कि शादियां स्वर्ग में होती हैं? फ्रमजी ने फर्श की तरफ देखते हुए जवाब दिया, ''हां। मॉजेज ने कहा, ''मैं भी यही मानता हूं। देखिए, हर लड़के के जन्म के समय ईश्वर उसे बताता है कि उसकी शादी किस लड़की से होगी। जब मैं पैदा हुआ तो ईश्वर ने कहा, तुम्हारी पत्नी कुबड़ी होगी। मैंने उसी वक्त प्रभु से कहा, अगर वह कुबड़ी हुई तो कितनी बुरी बात होगी। मेहरबानी करके उसका कूबड़ मुझे दे दो और उसे सुंदर बना दो। मॉजेज की हाजिरजवाबी और आत्मविश्वास ने फ्रमजी की सारी हिचक दूर कर दी। उनकी इस बात पर खिलखिलाते हुए फ्रमजी ने अपना हाथ मॉजेज मैंडलसन के हाथ में दे दिया।
Follow us on Instagram


Lata

Related News