See More

Sawan 2020: काशी में होंगे बाबा विश्वनाथ के Live दर्शन, इन 9 स्थानों पर होगा प्रबंध

2020-06-30T15:35:30.717

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
06 जुलाई से शिव भक्तों का सबसे प्रिय माह सावन शुरू होने जा रहा है। यूं तो हर साल श्रावण के महीने में शिव भक्तों की देश के हर कोने मे दिखाई देती है। परंतु संभव है इस बार ऐसा दृश्य देखने को न मिले। इसका कारण तो लगभग लोग जानते ही हैं, जी हां कोरोना के चलते प्रत्येक धार्मिक यात्रा आदि पर इसका गहरा असर पड़ा है। लेकिन वहीं इस दौरान ऐसे भी कई कदम उठाए जा रहे हैं जिससे लोगों की आस्था बनी रहे। ऐसे में अब खबर सामने आई है काशी के विश्वनाथ से जुड़ी हुई। मीडिया रिपोर्टस की मानें तो इस वर्ष सावन के दौरान काशी में नौ स्थानों पर एलईडी के माध्यम से बाबा विश्वनाथ के गर्भ गृह के लाइव दर्शन करवाए जाएंगे। बता दें प्रथम चरण में सात स्थानों-ज्ञानवापी, गोदौलिया, लंका, सिगरा, मलदहिया, नदेसर और कचहरी पर लाइव प्रसारण होगा। इस दौरान लाइव शुरू करने से पहले इन नौ स्थानों पर मंदिर के वीडियो दिखाए जाएंगे। बताया जा रहा है अभी एलईडी लगाने के लिए दो अन्य स्थानों पर भी विचार चल रहा है। 
PunjabKesari, Sawan 2020, Sawan, सावन, सावन 2020, शिव जी, बाबा विश्वनाथ, baba vishwanath, kashi vishwanath, Dharmik sthal, religiouys place in india, Lord Shiva, शिव जी
सोमवार को चौक स्थित कार्यालय में काशी विश्वनाथ मंदिर के प्रभारी सीईओ गौरांग राठी ने पत्रकारों को यह जानकारी दी। जिसमें उन्होंने ये भी बताया कि सावन के सोमवार को मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के प्रवेश और निकास के लिए चार मार्ग होंगे। 
PunjabKesari, Sawan 2020, Sawan, सावन, सावन 2020, शिव जी, बाबा विश्वनाथ, baba vishwanath, kashi vishwanath, Dharmik sthal, religiouys place in india, Lord Shiva, शिव जी
तो वहीं सावन के अन्य दिनों में प्रवेश और निकास के लिए तीन रास्तों का इस्तेमाल होगा। पांचों पंडवा और ज्ञानवापी से प्रवेश करने वालों की निकासी भी इसी मार्ग से होगी। इसके अलावा गेट नंबर 2 ढुंढिराज गणेश की ओर से प्रवेश करने वालों की निकासी नंदू फारिया लेन की ओर से होगी।
PunjabKesari, Sawan 2020, Sawan, सावन, सावन 2020, शिव जी, बाबा विश्वनाथ, baba vishwanath, kashi vishwanath, Dharmik sthal, religiouys place in india, Lord Shiva, शिव जी
रंपरागत जलाभिषेक पर निर्णय अभी बाकी
वर्षों से चली आ रही सावन के दौरान काशी विश्वनाथ मंदिर में जलाभिषेक की ये विशिष्ट व प्राचीन परंपरा है इस बार कोरोना महामारी के चलते लागू नियम और परंपरा के बीच फंस गई है। प्रभारी सीईओ गौरांग राठी ने तमाम पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि वर्तमान परिस्थितियों के चलते मंदिर में जलाभिषेक पर रोक का नियम भी न टूटे और सावन की मुख्य अवधारणा का मान भी बना रहे, इसके लिए बीच का रास्ता ढूंढा जा रहा है, 2 जुलाई को इससे जुड़ीजानकारी दी जाएगी। 
PunjabKesari, Sawan 2020, Sawan, सावन, सावन 2020, शिव जी, बाबा विश्वनाथ, baba vishwanath, kashi vishwanath, Dharmik sthal, religiouys place in india, Lord Shiva, शिव जी


Jyoti

Related News