Mahakumbh 2021: उत्तराखंड सरकार ने जारी की SoP, श्रद्धालुओं को स्नान के लिए मिलेंगे सिर्फ 20 मिनट

2021-02-23T17:08:15.08

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
देश में एक बार फिर से कोरोना कहर बढ़ता जा रहा है। इसी के मद्देनज़र हरिद्वार में होने वाले महाकुंभ को लेकर अधिक सावधानी बरती जा रही है। इससे जुड़ी काफी जानकारी हम आपको अपनी वेबसाइट के माध्यम से दे चुके हैं। बता दें कुंभ मेला न केवल देश में बल्कि विदेशों में भी अधिक प्रसिद्ध है। भारत के पावन तीर्थ स्थानों पर लगने वाला ये मेला बहुत बड़ा मेला कहलाता है। इस मेले में अनगिनत श्रद्धालु शामिल होते हैं। चूंकि पिछले 1 वर्ष से पूरे दुनिया में कोरोना बीमारी फैली हुई है। जिससे बचाव करना हर किसी के लिए बेहद ज़रूरी है। यही कारण है कि उत्तराखंड सरकार इस वर्ष होने वाले कुंभ को लेकर अधिक नियम बनाकर लागू कर रही है।

खबरों की मानें तो उत्तराखंड सरकार ने 2021 महाकुंभ के आयोजन के लिए (SOP) एसओपी जारी कर दी है। पिछले दिनों केंद्र सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी एसओपी (SOP) के तहत उत्तराखंड सरकार के सचिव आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास विभाग एसए मुरुगेशन ने कुंभ मेले की गाइडलाइन जारी कर दी है।

खास बात ये है कि महाकुंभ मेले में बिना रजिस्ट्रेशन और बिना कोविड नैगेटिव रिपोर्ट के किसी को भी प्रवेश नहीं मिलेगा। सभी तीर्थयात्रियों व श्रद्धालुओं को कुंभ में स्नान के लिए सिर्फ 20 मिनट का ही समय मिलेगा। इस मेले में सामूहिक भजन गायन और भंडारे पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। कुंभ के पास भी तीर्थयात्रियों को ऑनलाइन ही जारी किए जाएंगे।

बता दें यात्री रजिस्ट्रेशन के लिए www.haridwarkumbhmela2021.com पर आवेदन कर सकते हैं। रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड पर कोरोना रिपोर्ट की जांच के बाद ही, कोई भी तीर्थयात्री व श्रद्धालु बाहर निकल पाएगा। उसके अलाना मंदिरों में दर्शन के दौरान श्रद्धालुओं के बीच 2 गज की दूरी आवश्यक होगी तथा हर किसी के मोबाइल में आरोग्य सेतु एप का होना भी अनिवार्य होगा।

बताया गया है कि महाकुंभ में अगर कोई वाहन या तीर्थयात्री बिना पंजीकरण के आएगा तो उसे प्रवेश नहीं दिया जाएगा। (SOP) में कहा गया है कि शाही स्नान की जो तिथियां अधिसूचित होंगी,  उस दौरान हरिद्वार में बाजार बंद रहेंगे, सिर्फ आवश्यक वस्तुओं की दुकानें, जैसे डेयरी, भोजन, दवा, पूजन सामग्री व कंबल की दुकानें ही खुली रहेंगी।

 


Content Writer

Jyoti

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News