Ganga Dussehra 2021: 1 क्लिक में जानें शुभ मुहूर्त से लेकर पूजन विधि व पूजन मंत्र

2021-06-20T11:05:17.307

शास्त्रों की बात, जानें धर्म के साथ
प्रत्येक मास के ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को गंगा दशहरा का पर्व मनाया जाता है, जो आज यानि 20 जून, 2021 दिन रविवार को मनाया जा रहा है। सनातन धर्म की प्रचलित मान्यताओं के अनुसार इस दिन मां गंगा की आराधना की जाती है। प्रचलित किंवदंतियों के मुताबिक इस दिन मां गंगा का अवतरण धरती पर हुआ था। जिस कारण इस दिन का खासा महत्व है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार गंगा दशहरे के अवसर पर मां गंगा की विधि वत पूजा की जाती है, जिससे व्यक्ति को अपने समस्त पापों से मुक्ति मिलती है। 

यहां जानें गंगा दशहरा मुहूर्त, मंत्र, व पूजन विधि- 
दशमी तिथि प्रारम्भ - जून 19, 2021 को 06:45 पी एम बजे
दशमी तिथि समाप्त - जून 20, 2021 को 04:21 पी एम बजे

पूजा- विधि
इस बार कोरोना वायरस की वजह से गंगा स्नान नहीं कर सकते हैं, इसलिए घर में रहकर ही नहाने के पानी में गंगा जल डालकर मां गंगा का ध्यान कर स्नान करें।
घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें। 
ज्यादा से ज्यादा मां गंगा का ध्यान करें।
इस दिन दान करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है।
घर में रहकर ही मां गंगा मां की आरती करें।

गंगा दशहरा का महत्व
इस शुभ व पावन दिन मां गंगा की पूजा- अर्चना करने से सभी तरह के दोषों से मुक्ति मिल जाती है। मान्यता है कि इस दिन मां गंगा की पूजा अर्चना करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है।

गंगा दशहरा शुभ मुहूर्त
ब्रह्म मुहूर्त- 04:03 ए एम से 04:44 ए एम
अभिजित मुहूर्त- 11:55 ए एम से 12:51 पी एम
विजय मुहूर्त- 02:42 पी एम से 03:38 पी एम
गोधूलि मुहूर्त - 07:08 पी एम से 07:32 पी एम
अमृत काल- 12:52 पी एम से 02:21 पी एम
कंजूस होते हैं ये राशि वाले, नहीं करते हैं पैसा खर्च

मां गंगा आरती
ॐ जय गंगे माता, श्री गंगे माता।
जो नर तुमको ध्याता, मनवांछित फल पाता।
ॐ जय गंगे माता...

चन्द्र-सी ज्योत तुम्हारी जल निर्मल आता।
शरण पड़े जो तेरी, सो नर तर जाता।
ॐ जय गंगे माता...

पुत्र सगर के तारे सब जग को ज्ञाता।
कृपा दृष्टि तुम्हारी, त्रिभुवन सुख दाता।
ॐ जय गंगे माता...
एक ही बार भी जो नर तेरी शरणगति आता।
यम की त्रास मिटा कर, परम गति पाता।
ॐ जय गंगे माता...
आरती मात तुम्हारी जो जन नित्य गाता।
दास वही जो सहज में मुक्ति को पाता।
ॐ जय गंगे माता...
ॐ जय गंगे माता...।।

मां गंगा मंत्र

ॐ नमो गंगायै विश्वरूपिण्यै नारायण्यै नमो नमः' 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Jyoti

Recommended News